Published On : Sat, Mar 18th, 2023
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

प्रदर्शनी में दिखा नागपुर और विदर्भ का कलात्मक प्रतिबिंब

मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीकांत देशपांडे ने व्यक्त किए विचार
Advertisement

जी-20 पर फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन आम जनता के लिए 24 तक खुला

नागपुर। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीकांत देशपांडे ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि सूचना एवं जनसंपर्क महानिदेशालय के नागपुर जिला सूचना कार्यालय द्वारा आयोजित फोटो प्रदर्शनी में नागपुर एवं विदर्भा का वन संसाधन, पशु, पक्षी, वास्तुकला और संस्कृति का कलात्मक प्रतिबिंब है। वे नागपुर में 20 व 21 मार्च को होने वाली जी-20 बैठक के अवसर पर जिला सूचना कार्यालय द्वारा आयोजित फोटो प्रदर्शनी के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे। शहर में हो रहे सी-20 सम्मेलन की पृष्ठभूमि में जिला सूचना कार्यालय द्वारा फोटोग्राफी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता से चयनित तस्वीरों को यहां केंद्रीय संग्रहालय में प्रदर्शित किया गया। प्रदर्शनी का उद्घाटन देशपांडे और संभागीय आयुक्त विजयलक्ष्मी बिदरी, कलेक्टर डॉ विपिन इटनकर, नागपुर सुधार प्रन्यास के अध्यक्ष मनोज सूर्यवंशी, जिप मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौम्या शर्मा, जिला सूचना अधिकारी प्रवीण टेक, जया वहाने की उपस्थिति में हुआ।

Advertisement

देशपांडे ने कहा, नागपुर में सी-20 परियोजना के अवसर पर आयोजित फोटो प्रदर्शनी उचित है। इस प्रदर्शनी में नागपुर और विदर्भ के विभिन्न सांस्कृतिक पहलुओं सहित वन संसाधन, पशु, पक्षी, विरासत स्थल, त्योहारों और त्योहारों को आकर्षक ढंग से प्रस्तुत किया गया है। फोटोग्राफरों ने अपने कैमरों के माध्यम से नागपुर और विदर्भ के विविध खजाने को कलात्मक रूप से कैद किया है। उन्होंने अपनी भावना व्यक्त करते हुए कहा कि इस प्रदर्शनी के माध्यम से रचनात्मकता के लिए एक बड़ा मंच प्रदान किया गया है।

Advertisement
Advertisement

विजेता फोटोग्राफर पुरस्कृत

कुल चार विषयों पर आयोजित इस फोटोग्राफी प्रतियोगिता के लिए बड़ी संख्या में प्रविष्टियां प्राप्त हुई थीं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी देशपांडे के साथ-साथ वर्तमान संभागीय आयुक्त, कलेक्टर, नागपुर सुधार संघ के अध्यक्ष, जिप मुख्य कार्यकारी अधिकारी द्वारा छह विजेता फोटोग्राफरों को सम्मानित किया गया। पुरस्कार नकद, बैज और प्रशस्ति पत्र के रूप में है। यह फोटो प्रतियोगिता 3 फरवरी से 3 मार्च 2023 तक आयोजित की गई थी। नारायण मालू को ‘विदर्भ में बाघों का अस्तित्व और जंगल’ (नागपुर: टाइगर कैपिटल ऑफ इंडिया) विषय पर फोटोग्राफरों के बीच पहले क्रमाका पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्हें प्रथम पुरस्कार और आरती फुले को तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। रोहित लडगांवकर को ‘नागपुर हेरिटेज’ पर फोटोग्राफी प्रतियोगिता में, निधिका बागड़े को ‘नागपुर में त्योहार, त्यौहार, भोजन और परंपरा’ पर प्रतियोगिता में और अविनाश चौधरी को ‘नागपुर जिले में धार्मिक स्थल’ प्रतियोगिता में क्रमशः प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर परीक्षा समिति के सदस्य फोटोग्राफर सर्वेश्री नानू नेवरे, सुदर्शन साखरकर व राकेश वाटेकर का भी अभिनंदन किया गया। प्रवीण टाके ने कार्यक्रम की मेजबानी की। संचार अधिकारी रेणुका देशकर एवं सूचना अधिकारी अतुल पाण्डेय ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

प्रदर्शनी 24 मार्च तक निःशुल्क खुली रहेगी
यहां फोटो प्रदर्शनी में कलात्मक और आकर्षक तस्वीरों को प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्शनी 24 मार्च तक कार्यालय समय (सार्वजनिक अवकाश सहित) के दौरान सभी के लिए नि:शुल्क खुली रहेगी। जिला सूचना अधिकारी टाके ने छात्रों, फोटोग्राफरों और कला प्रेमियों से इस प्रदर्शनी को अधिक से अधिक संख्या में देखने की अपील की है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
 

Advertisement