Published On : Sat, Apr 27th, 2019

विकास के नाम पर काटे जा रहे पेडों का मनपा आयुक्त के कक्ष में पौधे लगाकर विरोध

नागपुर: पर्यावरण के लिए सड़क चौड़ीकरण का विरोध करने के बावजूद मनपा प्रशासन के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है. इसी कड़ी में आज असंगठित कामगार की ओर से मनपा आयुक्त ऑफिस में पौधे लगाकर आंदोलन किया. कांग्रेस के शहर अध्यक्ष युगल बिदावत व उनके शिष्टमंडल ने मांग रखी कि सड़क के किनारे पेड़ पौधों का जीवन बचाने के लिए कम से कम 2 से 7 फीट तक की जगह छोड़ी जाए. इसके पहले भी कांग्रेस की ओर से इस तरह की मांग रखी गई है.

बांगड़ को बताया कि आज से 10 से 15 साल पहले जो गर्मी 35 से 40 डिग्री सेल्सियस होती थी वह आज 45 के पार पहुंच रही है. इसका मुख्य कारण पेड़ों की कटाई भी है. जमीन का वॉटर लेवल लगातार नीचे खिसकता जा रहा है.

एक तरफ तो सरकार पेड़ लगाओ अभियान के तहत पैसे खर्च कर रही है. लेकिन सरकार ही खुद विकास की आड़ में ज्यादा से ज्यादा पेड़ काटने का काम कर रही है. अभी हाल ही में मेट्रो प्रशासन की ओर से करीब 3000 पेड़ों को काटने और छाँटने का काम किया गया. इस पर भी प्रशासन का पेट नहीं भरा तो नई जगह से रोड निकालने का काम किया जा रहा है जिसमें हजारों पेड़ों की बली ली जानेवाली है. सड़कों किनारे लगे अनगिनत पेड़ों को खत्म करने का काम न रोकने पर आंदोलन को और तीव्र करने की चेतावनी दी गई है. इस दौरान शिष्टमंडल में ब्लॉक अध्यक्ष देवेंद्र रोटेले, प्रमोद ठाकुर, दुर्गा लाहोरी, साव गुरुजी, धीरज पांडे, आनंद तिवारी, इमरान भाई, गुड्ड नेताम, अल्पसंख्यक सेल के अध्यक्ष रिजवान रूमवी, एससी सेल अध्यक्ष आलोक मून, हर्षल दिवे इत्यादि प्रमुखता से उपस्थित थे.