Published On : Sat, Jun 27th, 2015

अमरावती : 60,000 की रिश्वत लेते हुए एपीआइ समेत जमादार गिरफ्तार


सावकार अपार्टमेंट में एसीबी की कार्रवाई

27 ACB
अमरावती। खेत में हुई मजदूर की मौत में एफआइआर दर्ज ना करने तथा प्रकरण को निपटाने के लिए 60 हजार रुपए की रिश्वत लेते एपीआइ लक्ष्मण मारोती गवड तथा जमादार रविद्र दादाराव बाभुलकर (बं.862) को एसीबी ने रंगेहाथ पकड़ लिया. दोनों पुलिस कर्मी नांदगांव पेठ थाने में कार्यरत है.

प्रकरण निपटाने मांगे रुपए
दासवत नामक शख्स के खेत में कुछ दिन पहले ही एक मजदूर की मौत हुई थी. नांदगांव पेठ थाने में आकस्मिक मौत का मामला दर्ज किया. इस प्रकरण की जांच एपीआइ गवड को सौपी. गवड का रायटर रविंद्र बाभुलकर प्रकरण की जांच के बहाने दासवत से पूछताछ की. उसे बताया कि इस मामले में उसके खिलाफ एफआइआर दर्ज हो सकती है. प्रकरण निपटाना है तो 1 लाख रुपए की रिश्वत उन्हें दे, अन्यथा कार्रवाई होगी. दोनों के बीच हुई बात चीत में 50 हजार पर समझौता हुआ, लेकिन एपीआइ गवड ने 19 जुन को और 10 हजार की मांग की.

अपार्टमेंट में लगाया ट्रैप
60 हजार की रकम उसे 26 जुन को देना था. इस बीच उसने एसीबी से शिकायत कर दी. शुक्रवार की रात 10.30 बजे दासवत ने उन्हें म्हाडा कालोनी स्थित सावकार अपार्टमेंट में बुलाया. जैसे ही दोनों ने उससे पैसे लिये, उन्हें एसीबी ने रंगेहाथ पकड़ लिया. एसीबी की इस कार्रवाई से पुलिस महकामे में हड़कप मच गया. जमादार रविंद्र बाभुलकर हमेशा से विवाद में रहे है. इससे पहले भी वर्ष 2009-10 में तत्कालीन सीपी अमितेश कुमार ने निलंबित किया था. उस समय आरोप था कि मुंबई में किसी आरोपी को सहायता की थी. जिसके सीसीटीवी फुटेज मिले थे.