Published On : Tue, Sep 26th, 2017

आंगणवाडी सेविकाओं का अनिश्चितकालीन धरना आंदोलन शुरू


नागपुर/कामठी: अपनी विविध मांगों को लेकर राज्य भर में चल रहे आंगणवाडी सेविकाओं का धरना आंदोलन कामठी में भी सोमवार से शुरू हो गया है। तहसील कार्यालय के सामने अपनी मांगों की पूर्तता के लिए आंगणवाडी सेविकाएं व मदतनीस धरना आंदोलन पर बैठ गए हैं। उनके इस आंदोलन के कांग्रेस पार्टी के जिला महासचिव सुरेश भोयर ने भी पार्टी की ओर से अपना समर्थन दर्शाया है।

महाराष्ट्र राज्य में महिला व बालविकास विभाग के एकात्मिक बाल विकास योजना योजना अंतर्गत ढाई लाख आंगणवाडी कर्मचारी कार्यरत हैं। लेकिन आंगणवाडी सेविकाओं और मदतनीसों को मिलने वाला मानधन काफी कम है। इसे बढाने की मांग पिछले कुछ दिनों से की जा रही है। आंगणवाडी कर्मचारियों की प्रशासन की आेर से नियुक्ति की जाती है और उन पर प्रशासन का नियंत्रण रहता है ऐसा होते हुए भी उनको शासकीय कर्मचारी का दर्जा नहीं दिया गया।

देश में अन्य राज्यों में आंगनवाड़ी कर्मचारियों को इससे अधिक मानधन दिया जाता है। ऐसी अन्य कई मांगों को लेकर महाराष्ट्र राज्य आंगणवाड़ी, बालवाड़ी कर्मचारी युनियन आयटक के बैनर तले यह धरना आंदोलन किया जा रहा है। अांदोलन में श्रीमती मंदा कपाले के नेतृत्व में विद्या गजभिये, छाया कडू, आशा पाटील, सीमा गजभिये, संतोषी नेवारे, हाडके, सहारे आदि का समावेश रहा।