Published On : Tue, Dec 19th, 2017

सीआईटीयू के बैनर तले आंगनवाड़ी और महिला बचत गट कर्मियों ने किया प्रदर्शन


नागपुर : सीआईटीयू के बैनर तले आंगनवाड़ी महिला कर्मचारी संगठन, महिला बचतगट व पोषण आहार वितरण संगठन की ओर से मंगलवार को गणेश टेकड़ी रोड पर अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया गया. इस दौरान सैकड़ों की तादाद में नागपुर जिले और अन्य जिलों से भी महिला कर्मी यहां मौजूद थी.

संगठन के माध्यम से मांग की गई है कि पिछली बार जो कामबंद आंदोलन किया था. उसके बाद सरकार ने इन्हें भाऊबीज 2 हजार रुपए देने, सेविकाओं को 1500 रुपए, मिनी आंगनवाड़ी सेविकाओं को 1250 रुपए और मदतनीस को 1000 मानधन बढ़ाने के लिए हामीं भरी थी. जिसके कारण कामबंद आंदोलन पीछे लिया गया था. लेकिन अब तक सरकार ने कोई भी प्रस्ताव पारित नहीं किया है. जिसके कारण इनका कहना है कि महिला कर्मियों के साथ सरकार ने विश्वासघात किया है. अब महिला कर्मियों ने मांग की है कि मानधन का आदेश तुरंत निकाला जाए. साथ ही 2018-19 के राज्य के बजट में 10 प्रतिशत मानधन बढ़ोत्तरी को मंजूर किया जाए व उसमें ज्येष्ठता के अनुसार 5 प्रतिशत की बढोत्तरी सभी कर्मियों को दी जाए.

महिला बचतगट व पोषण आहार वितरण संगठन महिला कर्मियों ने मांग की है कि पोषण आहार के बकाया बिल का भुगतान समय पर हो, पोषण आहार के 12 रुपए प्रति लाभार्थी को दी जाएं. प्रीमिक्स आहार वितरण करने का निर्णय रद्द किया जाए. इस दौरान दोनों ही महिला कर्मियों ने इन मांगों के साथ अन्य मांगों को भी सरकार के सामने रखा.

इस प्रदर्शन का नेतृत्व आंगनवाड़ी महिला कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष रमेशचंद्र दहिवड़े, महासचिव शुभा शमीम, संगठन की राज्यपदाधिकारी आरमायटी ईरानी, राज्य पदाधिकारी संगीता कांबले ने किया.