Published On : Tue, Aug 29th, 2017

केवल फुटाला तालाब में ही सक्रीय दिख रहा एक एनजीओ


नागपुर: शहर में छोटी गणेश मूर्तियों के विसर्जन की शुरुआत हो गई है. मंगलवार शाम तक फुटाला तालाब के कृत्रिम तालाब में करीब 773 छोटी मूर्तियों का विसर्जन किया जा चुका है. जबकि शेष जोन के आकड़े नहीं आ पाए हैं. फुटाला तालाब में ग्रीन विजिल फाउंडेशन की ओर से यहां पर नागरिकों को कृत्रिम तालाबों में मुर्तियां विसर्जित करने के लिए मार्गदर्शन किया जा रहा है. जबकि बाकी जोन के अंतर्गत कितने एनजीओ अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं. इसके बारे में कोई भी जानकारी सामने नहीं आई है. लगभग शहर के 15 एनजीओ इस उपक्रम से जुड़े हुए थे.

पीओपी की मूर्तियों से तालाबों को बचाने के लिए नागपुर महानगर पालिका के स्वास्थ विभाग के डॉ. प्रदीप दासरवार की ओर से सभी एनजीओ की मदद ली गई थी. जिसके लिए 11 अगस्त को बैठक ली गई थी. जिसमें करीब 15 एनजीओ ने शिरकत की थी. उसके बाद 24 अगस्त को मनपा में इन एनजीओ की बैठक ली गई थी. जिसमें 9 एनजीओ ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराई थी. लेकिन अब तक किसी भी कृत्रिम तालाब के पास कोई भी दूसरा एनजीओ नजर नहीं आया है. जिसके कारण ऐसा लग रहा है कि तालाबों को पीओपी की मूर्तियों से बचाने का मनपा का संकल्प एनजीओ के मापदंड पर खरा नहीं उतरा है.


इस बारे में मनपा स्वास्थ विभाग के डॉ. प्रदीप दासरवार से बात की गई तो उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि सभी एनजीओ की बैठक ली गई थी. लेकिन अभी केवल ग्रीन विजिल संस्था के लोग ही फुटाला में कार्य कर रहे हैं. बाकी सभी एनजीओ दसवें दिन आने की जानकारी भी दासरवार ने दी. उन्होंने बताया कि फुटाला तालाब के कृत्रिम तालाब में विसर्जित की गई मूर्तियों की ही जानकारी उनके पास है. बाकी जगह की जानकारी के लिए एक दिन और इंतज़ार करना होगा.