Published On : Sun, May 17th, 2015

अमरावती : मेलघाट में दहाड़ रहे 9 बाघ, 38 तेंदुए


पूर्ण हुई प्राणी गणना

tigers of Umred karhndala  (3)tigers of Umred karhndala  (3)
अमरावती। मेलघाट बाघ परियोजना के सिपना, गुगामल, आकोट व अकोला इन चारों डिविजन की प्राणी गणना का द्स्तावेजी काम शनिवार को पूरा हुआ. इस प्राणी गणना में जो आंकडे आए है. उनके अनुसार इन संरक्षित जंगलों  कुल 9 बाघ व 38 तेंदूए दहाड़ रहे है. जबकी गणना में  लुप्तप्राय 4 गरुड, 17 चिंकारा, 23 लकड़बज्गों सहित कुल 7 हजार 927 पशु पाए गए है. इनमें राष्ट्रीय पक्षी मोरों की संख्या 1 हजार के आसपास पास है. यहां पर वाटर होल्स की कुल संख्या 539 गिनी गई.

सिपना में सर्वाधिक बाघ
मेलघाट वनविभाग की ओर से 4 मई को बुध्द पूर्णिमा को यह प्राणी गणना की गई. जिसमें बाघ परियोजना के तहत आने वाले चारों डिविजन की रेंज में वाटर होल्स के पास मचान लगाकर यह वन विभाग के कर्मचारियों व एन जीओ के कार्यकर्ताओं ने मिलकर यह प्राणी गणना की. जिसका पक्का डाटा बनाने का काम शनिवार को पूरा हुआ. इसमेें सिपना वनविभाग के तहत आने वाली 4 रेंज में कुल 165 वाटर होल पाए गए जिन पर कुल 1007 पशुओं ने हाजरी लगाई. जिनमें 7 बाघ, 14 तेंदुआ, 5 लकडबज्गे, 224 मोर , 11 जंगली बिल्लियां, 5 सियारों सहित अन्य कई जंगली पशुओं का का समावेश है. उल्लेखनिय है कि इन जंगलों नें 1 भी बंदर, खरगोश, गरुड, नेवले दिखाई नहीं दिए.

सिर्फ गुगामल में 4 गरुड
गुगामल में 2 बाघ, 2 तेंदूए, 2 लकडहबज्गे, 223 मोर, 4 जंगली कुत्ते, 81 भालू, 19 सियार, 390 बंदर, 597 वानर, 27 जगंली बिल्लियां, 4 गरुड, 41 नीलगाय, 141 सांबर,  110 चितल, 5 चाौसिंगा(चारसिंगा हिरण), दो चांदी रिछ, 338 जंगली सूअर पाए गए. इस वनपरिक्षेत्र में कुल 2446 वन्य पशुओं की गणना हुई है. यहां पर कुल 197 वाटर होल्स के पास मचान बनाकर यह गणना की गई.

आकोट के वनों में नेवला
आकोट वनपरीक्षेत्र के तहत कुल 130 वाटर होल्स पर यह प्राणी गणना की गई. जिसमें यहां सर्वाधिक 240 मोर, व 897 बंदर पाए गए. इस विभाग में एक भी बाग नहीं देखा गया. जबकि 6 तेंदूए, 6 लकडबज्गे,51  जंगली कुत्ते, 55 रिछ, 3 सियार, 897  बंदर, 182 वानर, 14 जगंली बिल्लियां,  1 नेवला, 81 नीलगाय,   182 सांबर,  50 चितल, 13 चाौसिंगा(चारसिंगा हिरण), 1 चांदी रिछ, 323 जंगली सूअर स्हित अन्य पशुओं को मिलाकर कुल 2529 पशुओं की गणना की गई.

अकोला में 16 तेंदूए
अकोला वन परिक्षेत्र में कुल 47  वाटर होल्स पर पशु गणना की गई. जिसमें कुल 1945 पशुओं की गणना हुई. इनमें 16 तेंदूए, 10 लकडबज्गे, 222 मोर, 36रिछ, 1 सियार, 464 बंदर, , 14 जगंली बिल्लिया, 498 नीलगाय, 4 सांबर,  219 चितल, 1 चाौसिंगा(चारसिंगा हिरण), 325 जंगली सूअर, 10 सायाल, 17 चिंकारा, 30 खरगोश आदि पाए गए.