Published On : Thu, Sep 3rd, 2020

अमितेश कुमार ( Amitesh Kumar) ने नागपुर में ही इंटरनेशनल क्रिकेट में मचा दी थी सनसनी

नागपुर- इंटरनेशनल क्रिकेटर ( International Cricketar ) और दाऊद इब्राहिम ( Dawood Ibrahim ) के ख़ास के बीच हुई बातचीत टेप कर क्रिकेट जगत में सनसनी फैलानेवाले नागपुर शहर के तत्कालीन आयपीएस अधिकारी अमितेश कुमार ( Amitesh Kumar ) शुक्रवार को नागपुर के नए पुलिस आयुक्त के रूप में पदभार संभालने वाले है. नागपुर शहर में प्रभावी और परिणामकारक पुलिसिंग करेंगे, ऐसी जानकारी उन्होंने शहर के एक लोकल न्यूज़ को बताई. फिलहाल के पुलिस आयुक्त डॉ.भूषणकुमार उपाध्याय ( Dr. Bhushan Kumar Upadhyay ) का कार्यकाल पूरा होने के कारण पिछले 2 महीनों से उनके ट्रांसफर की चर्चा शुरू थी. लेकिन नागपुर शहर के पुलिस आयुक्त कौन होंगे, इसके लिए नए नए नामों की चर्चा भी जोरों पर थी. सबसे पहले सुनील रामानंद ( Sunil Ramanand ) का नाम चर्चा में आया.

इसके बाद प्रभात कुमार ( Prabhat Kumar ),राजेंद्रसिंग ( Rajendrasingh ) के नामों की भी चर्चा हुई और आखिरकार नागपुर के पुलिस आयुक्त के रूप में अमितेश कुमार ( Amitesh Kumar) के नाम की घोषणा हुई. अमितेश कुमार ने वर्ष 2005 से 2007 तक नागपुर शहर में अपनी सेवाएं दी है. उस समय पुलिस आयुक्त के रूप में नागपुर में शिवप्रतापसिंह यादव ( Shiv Pratap Singh Yadav ) थे. नागपुर में इंटरनेशनल क्रिकेट का मैच था और वेस्ट इंडीज ( West Indies ) की टीम होटल प्राइड में ठहरी थी. खिलाडी मार्लोन सॅम्युअल ( Marlon Samuel ) के लिए होटल प्राइड के लैंडलाइन पर लगातार कॉल आने का ध्यान में आते ही पुलिस उपायुक्त अमितेश कुमार ( Amitesh Kumar) ने उनपर नजर रखी.

उनकी टाइमिंग के कारण दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों को धक्का देनेवाली बात सामने आयी. अंडरवर्ल्ड डॉन व् इंटरनेशनल क्रिमिनल दाऊद इब्राहिम ( Dawood Ibrahim ) का क्रिकेट बैटिंग का दुनियाभर में गोरखधंदा सँभालनेवाला राइट हैंड मुकेश कोचर ( Mukesh Kochar ) यह दुबई ( Dubai ) से मैच फिक्सिंग के लिए क्रिकेटर मार्लोन ( Marlon Samuel ) के साथ संपर्क कर रहा था. यह ध्यान में आते ही अमितेश कुमार ( Amitesh Kumar ) ने यह बातचीत टेप करके क्रिकेट जगत में सनसनी मचा दी थी. इसके बाद देश विदेश की जांच एजेंसियो ने इस मामले में ध्यान दिया था. नागपुर पुलिस के जांच के आधार पर आईसीसी ( ICC ) ने मार्लोन सॅम्युअल्स ( Marlon Samuel ) पर 2 साल की पाबंदी भी लगाई थी.

इस दौरान यह मामला ओपन करने के लिए तत्कालीन पुलिस आयुक्त शिवप्रतापसिंह यादव (Shiv Pratap Singh Yadav) और अमितेश कुमार( Amitesh Kumar) की काफी तारीफ़ भी हुई थी. इसके बाद अमितेश कुमार (Amitesh Kumar) का ट्रांसफर हुआ और अब 13 साल बाद वे नागपुर में पुलिस आयुक्त ( Commissioner of Police ) के रूप में आएंगे

इस संबंध में नागपुर के एक लोकल न्यूज़ से बात करते हुए उन्होंने कहा की नागपुर को प्रभावी और परिणामकारक सेवा देंगे. अर्थशास्त्र ( Economics ) और साइबर कानून ( Cyber law ) में मास्टर रहे अमितेश कुमार ( Amitesh Kumar ) नागपुर के साइबर क्राइम ( Cyber Crime ) पर भी ख़ास नजर रखनेवाले है. 13 साल पहले नागपुर की स्थिति अलग थी, अब क्राइम का रूप बदल चूका है. जिसके कारण यहाँ की परिस्थिति की स्टडी कर अपनी भूमिका लेंगे, ऐसा भी उन्होंने कहा. नागरिक और पुलिस के बेहतर संबंध स्थापित करने के साथ ही सबको साथ में लेकर काम करने की जानकारी भी उन्होंने दी.