Published On : Sat, Jul 4th, 2015

अकोला : प्रतीक्षा सूची अनुसार कृषि बिजली कनेक्शन न देने पर होगी कार्रवाई


जिले में साढे आठ हजार कृषि पंप बिजली कनेक्शन प्रलंबित

अकोला। जिले में बिजली कनेक्शन के लिए जिन किसानों ने पहले आवेदन किया है उन्हें पहले कनेक्शन दिया जाए. प्रतिक्षा सूची को नजरअंदाज कर अगर बिजली कनेक्शन दिया गया तो संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारीयां को जिम्मेदार मानते हुए उनके खिलाफ फौजदारी कार्रवाई की जाए, ऐसी चेतावनी जिलाधिकारी जी श्रीकांत ने आज महावितरण के अधिकारियों की जायजा बैठक में दी.

उल्लेखनीय है कि बालापूर तहसिल के नागद में 1 जुलाई को बिजली कनेक्शन न दिए जाने से दिलीप तायडे तथा उसकी पत्नी राधा तायेड ने रमजानपुर के बिजली वितरण कंपनी के कार्यालय परिसर में विष प्राशन किया था. इस घटना की पाश्र्वभूमि पर आज जिलाधिकारी जी. श्रीकांत ने जिलाधिकारी कार्यालय में महवितरण के अधिकारियों की विशेष बैठक बुलाई. इस बैठक में निवासी उपजिल्हाधिकारी अनिल खंडागले, महावितरण के अधीक्षक अभियंता यशवंत कांबले, कार्यकारी अभियंता देवेंद्र उंबरकर, जिले के सभी विभागों के अभियंता उपस्थित थे.

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि अकोला जिले में कुल साढे आठ हजार कृषिपंप बिजली कनेक्शन प्रलंबित होकर उसके लिए 50 करोड रूपये निधि की आश्यकता है. महावितरण की ओर से इन्फ्रा 2 के निधि तथा जिला प्रशासन की ओर से जिला वार्षिक नियोजन तथा जलयुक्त शिवार अभियान से कुछ निधि दिया जाएगा. इसलिए इस वर्ष अधिक से अधिक प्रलंबित बिजली कनेक्शन निबटाकर किसानों को न्याय दिया जाए. इसके बाद बिजली वितरण कंपनी के कार्यालय में किसी ने कनेक्शन के लिए पैसों की मांग की या किसी दलाल के माध्यम से किसानों को परेशान किया गया तो संबंधित अधिकारी इवं कर्मचारियों के खिलाफ कडी कार्रवाई की जाएगी.

अकोला जिले में अवैध बिजली कनेक्शनों की संख्या बहुत बडी होकर उक्त कनेक्शनों को वैध किया जाए साथ ही जिले के कृषिपंपो के बिजली कनेक्शन से जल्द से ज्द उपलब्ध कराए जाए. इसके अलावा तहसील तथा गुट स्तर पर जाकर महावितरण किसानों को विश्वास में लेकर प्रबोधन सम्मेलन लें. ऐसे निर्देश भी जिलाधिकारी ने दिए. वहीं प्रतीक्षा सूची अनुसार बिजली कनेक्शन दिया जाए और दलालों की सक्रियता रोकर सभी व्यवहार पारदशंक रूप से करने सभी बिजली कनेक्शनों की प्रतीक्षा सूची शासकीय वेबसाईड पर तुंत डाली जाए, ऐसे आदेश भी जिलाधिकारी जी. श्रीकांत ने दिए.

Electricity