Published On : Mon, Nov 24th, 2014

बुलढाणा : फिर एक कर्जदार किसान ने की आत्महत्या

Farmer Suicide
बुलढाणा।
लगातार फसल बरबाद होने, सिर पर कर्ज बढऩे, परिवार का भरण-पोषण न कर पाने जैसे कारणों से न जूझ ने की विपरीत स्थिति में फंसकर एक 35 साल के युवा किसान अंतत: विष पीकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली. यह घटना तालुका के गुगली में होने से गांव में सन्नाटा-सा पसर गया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मोताला तालुका के गुगली के दिवाकर वरखड़े (35) सीमित खेत में काम कर अपने परिवार का उदर निर्वाह कर रहा था. काफी दिनों पूर्व उसने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शाखा पोफली से 50 हजार रुपये का कर्ज लिया था. उपज से उत्पादन खर्च भी नहीं निकाल पाने से बैंक का कर्ज को लौटाने, परिवार का भरण-पोषण, बच्चों की शिक्षा जैसे सवालों से जूझ रहा था. इस उधेड़बुन में वह कोई रास्ता न मिलते देख अंतत: 22 नवम्बर को आत्महत्या करना ही मुनासिब समझ विष पी लिया. इस घटना की जानकारी मिलते ही गांव के नागरिक व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुख्तार सिंह राजपूत ने वरखड़े को जिला सामान्य अस्पताल में उपचारार्थ भर्ती कराया. इस दरम्यिान विधायक हर्षवर्धन सपकाल को घटना की जानकारी मिलते ही वे अस्पताल पहुंच डॉक्टरों को योग्य उपचार करने के निदेश दिए. डाक्टरों के सतत प्रयासों के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका. मृतक वरखड़े अपने पीछे पत्नी, एक बेटा, एक बेटी व वृद्ध पिता को छोड़ गया है. इस हृदय विदारक घटना से गुगली गांव शोक में डूब गया है.