Published On : Wed, Mar 29th, 2017

काँग्रेस में फिर एक बार टल गया श्याही फेंक कांड

File Pic


नागपुर:
 मनपा चुनाव के दौरान एक सभा के दौरान काँग्रेस के प्रदेशध्यक्ष अशोक चौहान के साथ श्याही फ़ेक कांड जनता को अब तक याद होगा। पार्टी के भीतर मची अन्तर्कलह की वजह से हुई इस घटना से पार्टी को शर्मिंदा होना पड़ा। कूल और इंटेलिजेंट समझे जाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री ने इस घटना को नजरअंदाज कर दिया। उनकी लाख कोशिशों के बाद भी उनकी पार्टी में शहर के कार्यकर्ताओं के बीच मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा। बुधवार को भी कुछ ऐसा ही होने जा रहा था मनपा चुनाव में हार चुका एक उम्मीदवार अपनी नाराजगी प्रदेशाध्यक्ष तक पहुँचाने की तैयारी में था। बस फर्क यह था की इस बार श्याही की जगह डामर का इस्तेमाल किया जाना था और यह काम वह अपनी समर्थक महिलाओ के हाँथो करवाना चाह रहा था। दरअसल यह कार्यकर्ता अपनी हार के लिए पार्टी के ही एक विधायक को जिम्मेदार मनाता है और उन्ही के नाराज़गी प्रदर्शित करना चाहता था।

पार्टी के इस कार्यकर्त्ता के इरादे की भनक सबसे पहले शहराध्यक्ष को लगी उन्होंने इसकी जानकारी तुरंत अशोक चौहान को दी। ऐसी घटना के भुक्तभोगी रह चुके चौहान तुरंत हरकत में आए। उनके सामने नाराज़ कार्यकर्त्ता हाज़िर हुआ। सब्र विरासत में पाए चौहान कार्यकर्त्ता के इरादे पर भन्ना गए उन्होंने साफ़ लहज़े में उसे समझाया की अगर वह अपने इरादे में सफ़ल हो जाता है तो वह कभी नागपुर की धरती पर क़दम नहीं रखेगें। चौहान के गुस्से को देख नाराज़ कार्यकर्त्ता भी संभल गया। गनीमत रही पार्टी में फिर एक बार श्याही फेंक कांड होते होते रह गया।