Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, Mar 16th, 2021

    सावनेर में प्रशासनिक ढिलाई पड़ रही भारी

    सावनेर – आज फिर सावनेर में एक बुजुर्ग महिला की कोरोना से मृत्यु हुई है । सावनेर में रविवार को कुल ६० कोरोना मरीज पॉजिटिव व सोमवार को कुल ७५ नए कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए है। फिर भी सावनेर में संक्रमण से बचाव में जनता लापरवाही एवं प्रशासन की ढिलाई समझ से परे है। पिछले माह के मुकाबले इस माह में कोरोना के नए मरीज मिलने की दर लगभग दोगुनी हो गई है। यह दर अब प्रतिदिन बढ़ रही है। मार्च के १५ दिन में ही ५७२ नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं। यह स्थिति सावनेर तालुका में संक्रमण की नई लहर की ओर संकेत दे रहा है। सावनेर प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन की लापरवाही बंद नहीं हुई तो सावनेर में कोरोना की गंभीर चपेट में आ सकता है।

    ये हैं प्रशासनिक ढिलाई जो पड़ रही भारी
    प्रशासन ने सार्वजनिक कार्यक्रम और अन्य महोत्सव कार्यक्रम पर भी रोक लगा दी गई है तथा शादी समारोह में ५० लोगो से अधिक लोगो पर पाबन्दी लगाई है , परन्तु यहाँ सब कागजो पर ही सीमित रहा गया है जमीनी सतार पर इसपर कुछ भी अमल नही हो रहा है । इसका सीधा उदाहरण आज सावनेर में आशीर्वाद हॉल में देखने को मिला । इसी प्रकार के प्रशासन की ढिलाई के कारण अब सावनेर में किसी भी कार्यक्रम में अच्छी खासी भीड़ आसानी से देखने मिल जाती है।

    साथ ही पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कड़क कार्रवाई नही होने के चलते भी लोग बेखोफ नियमों की धज्जियां उड़ाते हुवे घूमते नजर आते है, यही नही आस-पास के गाँव से सावनेर की ओर आने वाली सवारी गाडियों और बसों में भी सवारियों को ठूस-ठूस कर लाया – लिजाया जाता है। यह भी कोरोना संक्रमण को दावत देने जैसा है। संक्रमण के रोकथाम को लेकर प्रशासन की कार्रवाई ढीली पड़ गई है। इससे आम लोग भी लापरवाही पर उतारू हो गए हैं। यह नियंत्रण में आए कोरोना के फिर से हावी होने में मददगार साबित हो रहा है। सडक़ों पर उमड़ती भीड़ के बीच सोशल डिस्टेंसिंग गायब हो गई है।

    लोग बिना मास्क के घरों से बाहर निकल रहे हैं। सार्वजनिक स्थानों और बाजारों में सेनेटाइजेशन की व्यवस्थाएं अब नदारद है। पुलिस और प्रशासन की बिना मास्क घूमने वालों और कोरोना प्रोटोकॉल तोडऩे वाले कारोबारियों पर कार्रवाई बंद होने से भी मनमानी बढ़ गई है। इसे कोरोना के नए मरीज बढऩे का एक बड़ा कारण माना जा रहा है। सावनेर प्रशासन एवं पुलिस की ढिलाई के चलते सावनेर में कोरोना संक्रमण के फिर से फैलने में प्रमुख कारण बन गया है एवं लोंगो का मास्क ना लगाने और सोशल डिस्टेसिंग में लापरवाही मानी जा रही है।

    – दिनेश दमाहे,सावनेर


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145