Published On : Mon, Nov 27th, 2017

सिविल लाईन में बनी बनाई सड़को का हो रहा डाम्बरीकरण


नागपुर: शीतसत्र को लेकर शहर में सड़कों की मरम्मत का कार्य चल रहा है. ज्यादातर सड़कों का कार्य सिविल लाइन में किया जा रहा है. जबकि बर्डी, कॉटन मार्केट, लोहापुल, घाट रोड, मानेवाड़ा, बेसा, नारी रोड, टेका नाका समेत अन्य जगहों की सड़के ज्यादा खराब हैं. सिविल लाइन में ऐसी सड़कों का डाम्बरीकरण किया जा रहा है, जो पहले से ही अच्छी थी. जिसको सुधारने की कोई जरूरत नहीं थी. बावजूद इसके उसको भी बनाया जा रहा है. लेकिन जहां सड़कों की हालत कई वर्षों से खराब है और बद से बदतर हालत में पहुंचता है. उसके लिए कोई भी प्रयास नहीं किया जा रहा है.

शीतसत्र अधिवेशन में आनेवाले दो सप्ताह के मेहमानों के लिए सड़के चमकाने का कार्य किए जाने से शहर के नागरिक भी नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं. नागरिकों का कहना है कि शहर में रहनेवाले लाखों नागरिक रोजाना खराब सड़कों के कारण परेशान हो रहे हैं. कई बार दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं, लेकिन ऐसी सड़कों पर सरकार का ध्यान नहीं है. जबकि केंद्रीय सड़क मंत्री नागपुर के ही हैं, गड्डे भरी सड़के कई महीनों से जस की तस हालत में है. लेकिन अधिवेशन शुरू होने से पहले ही बनी बनाई सड़कों को और बनाया जा रहा है. सिविल लाइन में ज्यादातर सड़के अच्छी ही है, लेकिन बाकी जगहों की सड़कों की हालत काफी खराब है. सिविल लाइन में ऐसी कई सड़के हैं जिसको देखकर अचरज होता है कि इन सड़कों की मरम्मत की क्या जरूरत थी.


सिविल लाइन निवासी देवेंद्र जैस्वाल ने बताया कि शहर में नागरिकों को साल भर ख़राब और गड्ढों भरी सड़कों से होकर गुजरना पड़ता है, लेकिन प्रशासन ऐसी खराब सड़कों को बनाने के लिए या मरम्मत करने के बारे में नहीं सोचता. लेकिन अधिवेशन से पहले अच्छी सड़कों को ही बनाने में पैसा बर्बाद किया जाता है.


शहर के सड़कों को ही लेकर सिविल लाईन में ही रहनेवाले विजय चौहान ने बताया कि सड़कों की हालत काफी खराब है. कई बार गड्डो में गिरने के कारण गंभीर हादसे हो चुके है. खराब सड़कों की मरम्मत और बनाने के लिए निधि खर्च होना चाहिए न कि बनी हुई अच्छी सड़कों के लिए.