Published On : Wed, Mar 17th, 2021

2694 लोगों पर कार्रवाई

– आज से दुकानदारों पर भी बरती जा साकती है सख्ती

* 737 बगैर मास्क के पाए गए
* 871 ने किया सामाजिक दूरी के नीयम का उल्लंघन
* 1086 पर चालान की कार्रवाई
* 1451 वाहन रोके गए

नागपुर: सख्ती बरतने के बाद भी लोग लॉकडाऊन के नियमों को नज़रंदाज़ कर लोग बेवजह सड़कों पर चल रहे हैं और प्रशासन ने ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई तेज़ कर दी है. सड़कों पर वाहनों के आवाजाही को देखकर पुलिस आयुक्त ने फिर से अधिकारियों के साथ चर्चा की और नीयमों में बदलाव करने और ड्राइवरों की जांच करने का निर्देश दिया.

पुलिस ने इस निर्णय के तहत 2,694 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की. घर से निकलकर बेवजह बाहर निकलने वाले लोगों ने दूध और सब्जियां खरीदने के बहाने का इस्तेमाल किया. मनपा आयुक्त ने दुकानों के खोलने के समय को कम करने का निर्देश दिया गया था. उनके नए आदेश के बाद अब मेडिकल स्टोरों को छोड़कर सभी दुकानें दोपहर 1 बजे बंद हो जाएंगी.

इस नीयम का कड़े तरीके से कार्यन्वयन करने के लिए, मुख्य सड़कों के किनारे में गश्त बढ़ाने का निर्णय लिया गया है. सभी पुलिस अधिकारियों को वाहनों में उपलब्ध सार्वजनिक घोषणा प्रणाली के माध्यम से दुकानदारों को सचेत करने और उसके बाद नियम का उल्लंघन करने वाले कोई भी व्यक्ति पर महामारी और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत अपराध दर्ज करने के लिए निर्देश दिया गया है.

99 स्थानों पर नाकाबंदी की गई:
पुलिस ने 99 स्थानों पर नाकाबंदी की है. समय-समय पर पॉईंट बदलने का भी निर्णय लिया गया है . शहर में मुख्य सड़कों को छोड़कर फीडर रोड को बंद करने का निर्णय लिया गया है. नाकाबंदी के दौरान, पुलिस ने अनावश्यक सड़कों पर यात्रा करने वाले 1451 लोगों के वाहनों को हिरासत में लिया. नियमों का पालन न करने वाले 1086 लोगों का चालान किया गया. उनमें से बगैर मास्क के 737 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई और सामाजिक दूरी के नीयम का उल्लंघन करने वाले 871 लोग पाए गए. लॉकडाउन के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वाले 41 दुकानदारों के खिलाफ संबंधित धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है.

3 शराब दुकानदारों के लाइसेंस को रद्द करने का प्रस्ताव:
पुलिस ने भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत जारी आदेशों की अवहेलना के लिए 3 शराब बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ महामारी अधिनियम सहित विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की. बार-बार अपील करने के बावजूद जब इनके बारे में नियमों का उल्लंघन करने की शिकायतें सामने आई तब पुलिस ने राजस्व विभाग को इन तीन दुकानदारों के लाइसेंस को रद्द करने का प्रस्ताव भेजा है. भले ही शराब के लिए केवल होम डिलीवरी की अनुमति है, लेकिन कुछ दुकानदार आधे शटर डाउन करके सामान बेच रहे हैं. ऐसे दुकानदारों के खिलाफ पुलिस ने कमर कसी है.

शहर के 3 फ्लाई ओवर शृरु 14 बंद:
शहर में फ्लाईओवर के बंद करने के निर्णय को लेकर लोग काफी परेशान हैं. पुलिस ने शहर के सभी 17 फ्लाईओवरों पर यातायात बंद कर दिया था. परिणामस्वरूप वाहनों को नीचे के रूट से जाना पड़ा और सड़कों पर भीड़ भी ज़यादा हो गई. कुछ पुलों के नीचे रेलवे क्रॉसिंग पर जाम जैसी स्थिति पैदा हो गई थी. अत: प्रशासन ने 3 फ्लाई ओवर शुरू किए हैं लेकिन शहर के 14 अन्य फ्लाई ओवर बंद हैं.