Published On : Tue, Dec 4th, 2018

महिला सहकर्मी से लैंगिक सुख की मांग के आरोप में नागपुर ACB के DCP/SP पाटील के खिलाफ मामला दर्ज

साल भर से कर रहा था शोषण, विभागीय जांच में पाया गया शिकायत को सही

नागपुर: राज्य एंटी करप्शन ब्यूरो के नागपुर डिविज़न के पुलिस अधीक्षक प्रद्युम्न पाटील के खिलाफ महिला सहकर्मी से लैंगिक सुख की मांग को लेकर लगातार प्रताड़ित करने को लेकर मंगलवार को सदर थाने में मामला दर्ज किया गया है. थाने से जुड़े अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक पाटील पर महिला सहकर्मी ने आरोप लगाया है कि वॉट्सअप और मैसेंजिंग के साथ मौखिक तौर पर भी एसीबी ने कई बार उसे लैंगिक सुख देने की मांग की. इसकी शिकायत विभाग के आलाधिकारियों से करने पर मुंबई से मामले की जांच कराई गई, जिसमें शिकायत को सही पाया गया. लिहाजा इसके बाद पाटील के खिलाफ मामला दर्ज करने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए मुंबई से ही विभाग की महिला पुलिस अधिकारी को जांच के लिए लगाया गया था.

मिली जानकरी के मुताबिक पाटील पीड़ित महिला सहकर्मी को बीते साल भर से परेशान कर रहा था. वह महिला को सेक्स के लिए सहमति बनाने के लिए एसएमएस और वॉट्सअप मैसेज किया करता था. ऐसा न करने पर महिला कर्मी को वापस ग्रामीण मुख्यालय भेजने की भी धमकी दिया करता था. यही नहीं महिला के चरित्र को लेकर भी क़सीदे कसा करता था. इसे लेकर महिला पुलिस कर्मी ने एसीबी यूनिट के लैंगिक शोषण के खिलाफ लड़नेवाली आंतरिक कमेटी के पास शिकायत दर्ज की. जिसकी जाँच के बाद मामला दर्ज किया गया. संयुक्त पुलिस आयुक्त रवींद्र कदम ने कहा कि जांच डीसीपी 2 चिन्मय पंडित के तहत की जा रही है.

पाटील के खिलाफ धारा आईपीसी की धारा 354, 354(D), 500, 506, 509 के तहत मामला दर्ज किया गया है.