Published On : Wed, Aug 2nd, 2017

सीनेट चुनाव को लेकर एबीवीपी का कुलगुरु कार्यालय में प्रदर्शन


नागपुर: 
सिनेट के चुनाव के लिए अधिनियम के तहत अब ऑनलाइन फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू की गई है. लेकिन इस प्रक्रिया का ही अब विरोध होने लगा है. ऑनलाइन के साथ ही ऑफलाइन पद्धति से भी फॉर्म भरने की व्यवस्था की मांग को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के कुलगुरु डॉ. सिध्दार्थविनायक काणे के कक्ष में विद्यार्थियों ने धरना प्रदर्शन कर नारेबाजी कर ऑनलाइन पध्दति का विरोध किया. इस दौरान सैकड़ों की तादाद में एबीवीपी के विद्यार्थी और संगठन पदाधिकारी मौजूद थे. महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा बल के साथ ही पुलिस कर्मियों को भी तैनात किया गया था. करीब 2 घंटे तक विद्यार्थियों ने कुलगुरु कार्यालय में प्रदर्शन किया.

इस दौरान विद्यार्थियों ने मांग की है कि ऑनलाइन फॉर्म भरने के कारण ग्रामीण भाग के लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. क्योंकि वहां हमेशा ही सर्वर डाउन रहता है. जिसके कारण इस प्रक्रिया को ऑफलाइन भी शुरू किया जाए. विश्वविद्यालय में सीनेट के चुनाव के लिए ऑनलाइन फॉर्म की फोटोकॉपी के लिए एक जगह और इसके पैसे भरने के लिए दूसरी जगह जाना पड़ता है. जिसके कारण विद्यार्थियों को परेशानी हो रही है.


एबीवीपी ने मांग की है कि सभी पंजीयन निशुल्क किया जाए. आवेदन के साथ केवल डिग्री को ही मान्यता दी जाए. ऑनलाइन के साथ ही ऑफलाइन की भी सुविधा हो. 2015 में हुए पंजीयन का खुलासा किया जाए साथ ही ए और बी फॉर्म को एक ही फॉर्म में किया जाए. महिला मतदाताओं का पंजीयन करते समय प्रमाणपत्र व शादी के बाद के पहचान पत्र को ही मान्यता मिले और विश्वविद्यालय ने एक ही जगह फॉर्म भरने और पैसे भरने की सुविधा उपलब्ध कराई जाए.