Published On : Tue, Dec 2nd, 2014

नरखेड : अनुपस्थित विद्यार्थी की उत्तरपत्रिका भेजने का प्रयास

Advertisement


नरखेड (नागपुर)।
यहां के विद्यापीठ परीक्षा केंद्र क्र. 325 पर 30 अक्टूबर से परीक्षा शुरू हुई है. मंगलवार को एम.एस.डब्लु सत्र 1 का पेपर शुरू था. एक खोली में 63 विद्यार्थियों के बैठने की सुविधा की गई थी. वही आज 63 विद्यार्थियों से 1 विद्यार्थी अनुपस्थित था. विद्यापीठ में उत्तरपत्रिका बांधते समय अनुपस्थित विद्यार्थी की उत्तरपत्रिका समेत 63 उत्तरपत्रिका भेजने का प्रयास था. यह बात प्राचार्य जयंत जवंजाल के ध्यान में आते ही यह मामला उजागर हुआ.

अनुपस्थित रोल नंबर पर लाल स्याही से गोल
प्राप्त जानकारी के अनुसार 30 अक्टूबर से शुरू पंढरीनाथ महाविद्यालय में विद्यापीठ की परीक्षा शुरू हुई. परीक्षा के लिए महाविद्यालय के प्रा. अनिल गणवीर को मुख्य पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्त किया गया. वही मुंदाफल महाविद्यालय के प्रा. प्रवीण कोल्हे को सहाय्यक पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्त किया गया था. 02 दिसंबर मंगलवार सुबह 9.30 बजे एम.एस.डब्लु सत्र 1 का पेपर शुरू होने के बाद कक्षा में अध्यापक विद्यालय के खोबे व एवरग्रीन कॉन्वेंट के कालबांडे पर्यवेक्षक के तौर पर उपस्थित थे. बैठक सीट पर 63 विद्यार्थी दिखाए गए. 643624 के रोल नंबर का विद्यार्थी अनुपस्थित था. उस नंबर पर लाल स्याही से गोल किया था. जिससे पता चलता है कि, विद्यार्थी अनुपस्थित है. बाकी कागजों पर भी अनुपस्थिती दर्शाई गयी.

व्हाइटनर लगाकर मिटाने का प्रयत्न

Advertisement
Advertisement

पेपर ख़त्म होने के बाद खोली पर पर्यवेक्षक ने 62 उत्तरपत्रिका मुख्य पर्यवेक्षक अनिल गणवीर को सौंप दी. पर्यवेक्षक जाने के बाद 62 उत्तरपत्रिका की जगह 63 उत्तरपत्रिका कैसे हुई यह बात महाविद्यालय के प्राचार्य के ध्यान में आई. अनिल गणवीर ने अनुपस्थित विद्यार्थी की जगह व्हाइटनर लगाकर स्याही मिटाने का प्रयत्न किया. प्राचार्य ने पुलिस थाने जाकर इस घटना की जानकारी दी. अनिल गणवीर ने विद्यापीठ परीक्षा नियंत्रक को संपर्क कर अपनी सफाई पेश की. उसके बाद परीक्षा नियंत्रक मोहिते ने प्राचार्य को पुलिस केस ना करते हुए मामला विद्यापीठ के पास भेजने के लिए बताया.

रातभर रखा उत्तरपत्रिका का गठ्ठा अपने घर
विद्यापीठ परीक्षा नियंत्रक मोहिते से संपर्क कर उन्होंने, विद्यापीठ जाँच करके नियम अनुसार कार्रवाई करेंगे ऐसा टालमटोल कर जवाब दिया. 11 नवंबर को उक्त परीक्षा केंद्र पर हुई परीक्षा की उत्तरपत्रिकाओं का गठ्ठा परीक्षा मुख्यपर्यवेक्षक अनिल गणवीर अपने घर ले गए और रातभर उत्तरपत्रिकाओं का गठ्ठा रखा ऐसी शिकायत प्राचार्य ने विद्यापीठ परीक्षा नियंत्रक से की.

परीक्षा उत्तीर्ण करने की गारंटी लिए 2000 रूपये, व्हिजिटिंग कार्ड का उपयोग
परीक्षा शुरू होते ही एक अज्ञात व्यक्ति सभी परीक्षार्थी के पास एक व्हिजिटिंग कार्ड छोड़ता है. दिए गए नंबर पर संपर्क करने पर परीक्षा उत्तीर्ण करने की गारंटी के लिए 2000 रूपये लगेंगे कहाँ जाता है और परीक्षा के समय उन्हें एक हि खोली में बिठाकर पेपर छुडवाया जाता है. इस गलत प्रयोग की कई दिनों से चर्चा थी. लेकिन आज सबुत के साथ घटना का पता चला जिससे परिसर में हड़कम्प मच गया. घटनाक्रम को देखते हुए नागपुर विद्यापीठ के परीक्षा विभाग के बड़े अधिकारी से लेकर नरखेड परीक्षा केंद्र तक कितने लोग शामिल होंगे यह कहाँ नही जा सकता. विद्यापीठ इस घटना सही कार्रवाई करे ऐसी मांग नगरसेवक मुकेश शेंडे ने की है.

File Pic

File Pic

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement