Published On : Thu, Mar 9th, 2017

“आपली बस” सेवा में तैनाती के लिए 15000 की मांग!

bus

File Pic


नागपुर:
मनपा के अधीन स्टार बस से 800 करीब बस चालक, कंडक्टर और तकनीकी कर्मी कार्यरत थे।अब चूँकि बस ऑपरेटर बदल दिए गए, इसलिए नए बस ऑपरेटर अपनी मनमर्जी से उक्त सैकडों पदों पर नियुक्ति कर रहे हैं। जो नई नियुक्तियां हुई है,उनमें 25 प्रतिशत पुराने ऑपरेटर के पास काम करने वाले कर्मचारी हैं। इन पुराने कर्मियों ने नियुक्तियां के वक़्त क्रमशः 15000 व 7000 रूपए नहीं वसूले। लेकिन अब उन्हें भी जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है।अबतक अधिकांश नियुक्तियां नए-नवेले की बिना रसीद दिए उक्त राशि लेकर नियुक्त किये जाने की जानकारी मिली है।

इन नए नवेलों को शहर बस परिवहन के मार्ग, तकनीकी अड़चन, यातायात नियमों का ज्ञान शून्य है। इन नए नवेलों अनुभवहीनों की नियुक्ति मनपा परिवहन समिति के सभापति के सिफारिस पत्र के आधार धड़ल्ले से जारी है। अनुभवी करीबन 500 कर्मी आज बेरोजगार हो गए हैं, नए बस ऑपरेटर के नए नियमों के कारण सकते में हैं। उक्त बेरोजगारों पर परिवार सह भुखमरी की नौबत आन पड़ी है। पुराने बस ऑपरेटर से 13000 रूपए मासिक वेतन मिला करता था। नए बस ऑपरेटर उससे भी कम में काम करवाने पर तुले हैं। पुराने बस ऑपरेटर अच्छी कमाई करने पर नगद मुनाफा देती थी।

पुराने बस ऑपरेटर के ठेके रद्द के बाद मनपा ने 3 नए बस ऑपरेटर सह आईबीटीएम की नियुक्ति की है। फिर भी शहर बस सेवा पूर्णतः लड़खड़ा गई है। पुराने ड्राइवर, कंडक्टर, कंट्रोलर, मेकेनिक, चेकर आदि को प्राथमिकता देने की बजाय परिवहन सभापति की मनमर्जी से नए नवेलों सह अनुभवहीनों की नियुक्ति की जा रही है। नए ऑपरेटरों द्वारा पुराने अनुभवी कर्मियों को मार्च 2017 के अंत तक रुकने का आदेश दिया गया है।

उल्लेखनीय यह है कि नए नवेलों सह अनुभवहीनों से नियुक्ति वक़्त मनमानी राशि डिपाजिट सह अन्य कारणों से मांगी जा रही है, लेकिन किसी को पक्की रसीद नहीं दी जा रही है। वहीं अनुभवी कर्मी घर बैठ गए हैं। इन अनुभवी कर्मियों ने चेतावनी दी है कि अगर इस दरम्यान हमें या हमारे परिजनों पर कोई आफत आई तो उसके जिम्मेदार मनपा परिवहन विभाग सह सभापति होंगे। जबकि उक्त सभापति पूर्व कार्यकाल में बनाये गए थे लेकिन इस नए कार्यकाल में भी मनमाफिक उनकी तूती बोल रही, जो की आश्चर्यजनक है। त्रस्त सैकडों अनुभवी कर्मियों ने मांग की है कि अतिशीघ्र हमें बिना डिपाजिट के नियुक्ति नहीं की तो सभी पूर्व कर्मी अनशन सह आंदोलन करेंगे, इससे होने वाले नुकसान की जिम्मेदारी मनपा प्रशासन की रहेंगी।

‘आप’ करेगी प्रदर्शन
आप के नेता जम्मू आनंद ने संगीन आरोप लगाया कि शहरवासियों ने विशाल समर्थन देकर भाजपा को पुनः सत्ता पर काबिज कर दिया तो सत्ताधारियों ने १ मार्च से शहर बस सेवा ठप्प कर जनता-जनार्दन को अनोखा तोहफा दिया। इन दिनों स्कूली परीक्षाएं शुरू हैं। ‘आप’ शिष्टमंडल मनपा अतिरिक्त आयुक्त सोनवणे से मिले और पुराने ऑपरेटर से बकाया १२३ करोड़ वसूलने एवं शीघ्र बकाया न देने पर उनकी चल-अचल संपत्ति जप्त करें सह नए ऑपरेटरों से किये गए करारों को सार्वजानिक करने की मांग की। जबतक सुचारू रूप से बस संचलन नियमित नहीं हो जाती तबतक मनपा प्रशासन शहर बस सेवा अपने हाथों में ले। उक्त मांगों को मनपा प्रशासन ने गंभीरता से नहीं लिया तो ११ मार्च को ‘आप’ इस मुद्दे को लेकर प्रदर्शन करेगी।