Published On : Fri, Jun 26th, 2020

एक सप्ताह विश्रांती के जमकर बरसे बादल धो डाला

काटोल संवादाता: इस वर्ष मुर्ग नक्षत्रों के अच्छी बारिश होने बात मौसम विभाग तथा जानकारों अनुसार बात कही जा रही थी वहीं इस वर्ष मुर्ग नक्षत्र से ही कहीं वर्षों बाद समय अनुसार रूक कर बारिश हो रही थी जिससे किसानों द्वारा अपने खेतों खलिहानों को तैयार कर मृग नक्षत्र हो रही झमाझम रिमझिम बारिश खेत खलिहानों नहीं रौशनी के साथ रौनक बरसातें नयी मंजिल उम्मीद जगा दी जिससे इस वर्ष मुर्ग नक्षत्र से हो रही झमाझम बारिश से अच्छी फसलों की पैदावार बढ़ाने के लिए उत्पादन में बढ़ोत्तरी होने की संभावना जताई जा रही थी

वहीं किसानों द्वारा अपने खेतों खलिहानों बुआई कर किसानों सफेद रंग सोना कपास, नगद फसल सोयाबीन, ज्वारी, उडीद, मुंग, मक्का, बुआई कर दी वहीं कुछ पैमाने अच्छी बारिश भी हुई परन्तु अभी एक सप्ताह दस दिनों सूर्य देवता आसमान में आग उगल थे हुए दिखाई दे वहीं रोज सुबह से दिन निकल ते ही रोशनी की नहीं उम्मीद नहीं किरणों के साथ आसमान आग उगलते सूर्य देव का प्रकोप चल रहा है वहीं आसमान में बादल छाए रहने तथा धूप छाव के मौसम के गर्मी साथ उमस भरी दिखाई दे रही थी उसी तरह चिपचिपी धूप और गर्मी से किसानों तथा नागरिकों में हाहाकार मचा हुआ था वहीं किसानों तथा नागरिकों द्वारा भगवान याद करते हुए इन्द्रदेव के पसन्न होने और झमाझम बारिश का इन्तजार कर भगवान को याद करने लगे हुए थे वहीं अभी दो दिनों से भिषण गर्मी और उमस भरी गर्मी के मौसम से चिड़चिड़ापन बडते ही जा रहा था

वहीं दोपहर होते होते मौसम रोज सुबह से ही सूरज के उजाले के साथ आग उगल थे हुए दिखाई दे रहे थे वहीं शाम को कुछ समय के आसमान में बादल छाए रहने तथा हवाओं से कुछ थोडी राहत महसूस मिलती थी वहीं गर्मी अपना रूख दिखाई दे रही थी उसी से चिपचिपा पन भिषण गर्मी से किसानों तथा नागरिकों को जोरदार बारिश होने की राह देख आसमान में देख रहे थे

वहीं कल रात तेज हवाओं आधी तुफान और बिजली की गर्जना और चमचमाती बिजली के साथ आधा घंटा जमकर बरसे वहीं किसानों तथा नागरिकों ने राहत महसूस करते हुए दिखाई दिये वहीं मध्य रात्रि के 2 बजे से सुबह पांच बजे तक मानों आसमान में बादल ही फट गया हो जो जो-जो कर धो धो करते बरसे रहे बादलों से मानों धो डाला हो वही कल हुई तुफानी बारिश से काटाेल विधानसभा पूर्व विधायक आशिष देशमुख और काटोल के उस समय के उपविभागिय महसूल अधिकारी जलयुक्त शिवार योजना अन्तर्गत नदियों तथा नालों पूर्ण जिवंत कर हरित क्रांति की शुरुआत करने नदियों तथा नालों जो पूर्ण जिवित करते हुए खोलीकरण किया गयें नालों में कल मध्य रात्रि को उई जोरदार झमाझम बारिश से नालों में लबालब पानी जमा हो गया है जिससे किसानों तथा नागरिकों ने राहत महसूस की है वहीं आज सुबह शुक्रवार को भी आसमान में बादल के जगह कल रात हुई जोरदार बारिश के बाद सूर्यदेव आग उगल ते हुए कहर बरसातें हुए दिखाई दे रहे थे वहीं शाम होते होते बादलों मौसम की रहा दिखाई दे रही थी इस उमस भरी गर्मी के मौसम से चिड़चिड़ापन से राहत मिलेगी इस और लोगों द्वारा आस लागाये बैठे थे नागरिक वहीं कल हुई जो बारिश वह लगातार तीन चार दिनों तक बारिश झड लगने उम्मीद लगाए बैठे हैं।