Published On : Fri, Jun 12th, 2020

काटोल समिपस्थ रिधोरा में एक कोरोना पाॅजेटिव्ह

आपदा प्रबंधन विभाग ने किया रिधोरा सील

काटोल: काटोल तहसील के रिधोरा ग्राम पंचायत क्षेत्र के हनुमान नगर वार्ड में 37 वर्षी एक युवक कोरोना पाजिटिव मिलने से काटोल उपविभाग आपत्ति व्यवस्थापन के अध्यक्ष श्रीकांत उंम्बरकर तथा संबधित अधिकारियों ने रिधोरा ग्राम पंचायत क्षेत्र के हनुमान नगर को सील कर कोरोना पाजिटिव के संपर्क में आने वाले लोगों की खोज में कोव्हिड निवारन आपत्ति दल जुट गया है ।
बताया जाता है की

काटोल तहसील के कोंढाली समिपस्थ दुधला गांव में 18 मई को एक नौ वर्षीय बालीक को कोरोना से संक्रमित पाया गया था। वह नागपुर के शांति नगर इलाके में अपने रिश्तेदारों से आई थी। अब यह बालीका कोरोना से मुक्त होकर 0 7 जून को घर लौटी।इसी प्रकार विकासनगर में, नागपुर का एक दामाद कोरोना सकारात्मक पाया था। उसका इलाज चल रहा है ,और वर्तमान में वह स्वास्थ्य बताया जाता है, और दुसरे रिपोर्ट का इंतजार है।
अब काटोल तहसील के नागरीक कोरोना से मुक्त होने की उम्मीद कर रहे थे। किंतू कोरोना है की काटोल तहसील का पीछा ही नहीं छोड़ रहा। अब आज 11 जून को नागपुर से आई एक निजी लॅब से रिपोर्ट के अनुसार, रिधोरा के एक 37 वर्षीय निवासी कोरोना को सकारात्मक पाया गया।


इसकी जानकारी काटोल उपविभागीय आपत्ती व्यवस्थापन विभाग को मिली तब एस डी एम श्रीकांत उंम्बरकर, तहसीलदार अजय चरडे नायब तहसीलदार निलेश कदम, बी डीओ सुनील साने, स्वास्थ्य अधिकारी डाक्टर शशांक व्यवहारे काटोल के थानेदार महादेव आचरेकर तहसील आरोग्य अधिकारी डाक्टर शशांक व्यव्हारे, रिधोरा पहूंचे। यहां के जिला परिषद सदस्य तथा नागपूर जिला परिषद के आरोग्य समिती सदस्य सलिल देशमुख , सरपंच नलीनीताई राऊत, पं स सदस्य संजय डांगोरे, आदी के समक्ष रिधोरा हनुमान नगर वार्ड -के इलाके को सील किया गया है ।

तथा , संबधित कोरोना पाजिटिव के संपर्क में आये 30 नागरिकों तथा ज्यादा भी हो सकते हैं तो काटाेल के एक निजी अस्पताल में तबीयत खराब होने पर इलाज के लिए चेकप करने गया था यह भी जानकारी प्राप्त हुई है. वहीं रिधोरा के एक सलून वाले ने उसकी कटिंग दाड़ी व मसास करने की बात सामने आ रही है वहीं वह सलून दुकानदार कितने लोगों के संपर्क में आये अभ यह भी पता करना पडेगा आज, 11 जून को, नागपुर में कोव्हिड पृथक्करण केंद्र भेजा गया है, यह जानकारी चिकित्सा अधिकारी डॉ शशांक व्यवहारे ने दी है। वहीं 30 घरों को सील किया गया वहीं दो गल्ली भी सील किया वहीं संपूर्ण गाव सील कर संपूर्ण गांव में फवारणी कि जा रहीं हैं वहीं डॉक्टर लोगों की टिम पहुंच कर गांववासियों के सॅम्पल लेना प्रारंभ कर दिया है।