Published On : Tue, Mar 7th, 2017

नासुप्र का आखरी बजट ९५९ करोड़ का

NIT Budget
नागपुर:
 नागपुर सुधार प्रन्यास बर्खास्त होने से पहले उसका आखरी बजट मंगलवार को पेश किया गया। नासुप्र के विश्वस्त मंडल के सामने सभापति डॉ. दीपक म्हैस्कर ने वित्तीय वर्ष २०१७-१८ के लिए ९५९ करोड़ ४० लाख का बजट पेश किया। बजट के बाद ली गई पत्र परिषद में उन्हें इसे सर्व सम्मति से मंज़ूर होने की जानकारी दी। पिछले वित्त वर्ष में ९५५ करोड का बजट पेश किया गया था।

उन्होंने बताया कि पिछले वित्त वर्ष के मुक़ाबले इस बार बजट में ४०० करोड़ रुपए की कटौती देखने मिल रही है। मेट्रो रीज़न क्षेत्र में निर्माण कार्यों को सुविधा जनक बनाने के लिए ऑटो डीसीआर तैयार करने की घोषणा की गई है। साथ ही इसके लिए १०० करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है।

इस बजट में मेट्रो रीज़न का प्रारूप तैयार करते समय इस क्षेत्र के ७१९ गांवों के ३५६७ वर्ग किलो मीटर क्षेत्र में नए उद्योगों को गति देने के नज़रिए से १०० करोड़ की व्यवस्था की गई है। इसी तरह इस वित्तीय वर्ष में ५७२ व १९०० प्रन्यासों में तकरीबन ६ करोड़ रुपए मिलने की संभावना रखते हुए अविकसित लेआउटों के लिए ९० करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

उन्होंने यह भी कहा कि विकास शुल्क के रूप में ७१ करोड़ रुपए कम मिले हैं। सम्पत्ति निस्तारण से भी १३९ करोड़, ४५ करोड का सरकारी अनुदान नहीं मिल पाया है। लगभग ४१३ करोड रुपए कम जमा होने से ४२१ करोड रुपए योजनाओं पर कम ख़र्च हुए हैं।

बजट के दौरान संदीप बापट, कार्यकारी अधिकारी, मिलिंद सालवे- महाव्यवस्थापक, नितीन अढारी विश्वस्त नासुप्र – सहसंचालक, नगर रचना, श्रावण हर्डीकर विश्वस्त नासुप्र व आयुक्त नागपुर महानगरपालिका, सचिन कुर्वे विश्वस्त नासुप्र व जिल्हाधिकारी, सतीश पासेबंद  अधीक्षक अभियंता , विलास कावले मुख्य वित्त अधिकारी, पंडित घुघे वित्त अधिकारी,  प्रवीण डेकाटे – शाखा अधिकारी – वित्त प्रमुखता से मौजूद थे।