Published On : Tue, Jun 13th, 2017

दसवीं की परीक्षा में राज्य का रिजल्ट 88.74 प्रतिशत


नागपुर: राज्य माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षा मंडल की बहुप्रतीक्षित 10 वीं कक्षा के रिजल्ट मंगलवार को घोषित कर दिए गए। दोपहर एक बजे के बाद परीक्षा परिणामों की घोषणा की गई। राज्य की परीक्षा में बारहवीं में राज्य पिछड़े नागपुर विभाग का रिजल्ट लगातार दसवीं कक्षा में भी पिछड़ता दिखाई दिया। दसवीं कक्षा के राज्य भर के 9 विभागों में नागपुर विभाग का रिजल्ट सबसे कम रहा जबकि सर्वप्रथम कोंकण विभाग रहा। कोंकण विभाग का बाहरवीं की परीक्षा में भी सबसे आगे रहकर अपना लोहा मनवाया था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में कुल 16 लाख 50 हजार 499 विद्यार्थियों का परीक्षा के लिए पंजियन हुआ था। इसमें से 16 लाख 44 हजार 16 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। जिसमें से 14 लाख 58 हजार 855 विद्यार्थी पास हुए। कुल मिलाकर राज्य का रिजल्ट 88.74 प्रतिशत रहा। इसमें सबसे आगे कोंकण विभाग रहा जिसका पासिंग पर्सेंट 96.18 प्रतिशत, दूसरे स्थान पर कोल्हापुर विभाग (93.59), तीसरे स्थान पर पुणे (91.95), चौथे स्थान पर मुंबई (90.09), पांचवे स्थान पर औरंगाबाद (88.15), छटवें स्थान पर नाशिक (87.76), सातवां लातूर (85.22), आठवां अमरावती (84.35) और सबसे अंत में नागपुर विभाग रहा जिसका रिजल्ट 83.67 प्रतिशथ दर्ज किया गया।

पिछले वर्ष की तुलना में इस साल दसवीं कक्षा का रिजल्ट राज्य भर में 0.82 प्रतिसथ कम रहा। वहीं नागपुर संभाग के रिजल्ट में भी 1.67 प्रतिशत की गिरावट गर्ज की गई है। लेकिन इस साल विद्यार्थियों को दो विषयों में फेल होने के बाद भी एटीकेटी की सुविधा दी जाएगी। विकलांग विद्यार्थियों को भी विशेष सहूलियों के साथ ज्येष्ठ लेखक भी मुहैय्या कराए गए। कला विभाग में काम करनेवाले विद्यार्थियों को भी अतिरिक्त अंत की सुविधा दी गई। नागपुर विभागीय कार्यालय में आयोजित पत्रपरिषद के दौरान मंडल के सचिव पी.आर. पवार ने बताया कि विद्यार्थी अपने उत्तर पत्रिका की प्रतिलिपि प्राप्त करने के िलए 14 जून से आवेदन कर सकते हैं। वहीं असफल विद्यार्थी की परीक्षा 18 जुलाई 2017 से ली जाएगी। इसके लिए आवेदन फार्म ऑनलाइन 19 जून से उपलब्ध कराए जाने की जानकारी भी उन्होंने दी।