Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Jun 30th, 2018

    कोयला व्यापारी के 70 लाख लूटे

    नागपुर: लकड़गंज थानांतर्गत शुक्रवार शाम एक कोयला व्यापारी के कैशियर की आंखों में मिर्ची पावडर झोंककर 70 लाख रुपये की रकम लूट ली गई. घटना पुराना भंडारा रोड पर शिवम टॉवर के सामने की है. व्यापारी का नाम सतनामीनगर निवासी सचिन अग्रवाल (34) बताया जा रहा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, सचिन का पावरहाउस चौक स्थित शिवम टावर में आफिस है. शाम करीब 7.30 बजे सचिन अपने भिसीकर नाम के एक कर्मचारी के साथ बैग में रकम लेकर बिल्डिंग से नीचे उतरा. वह अपनी कार की ओर बढ़े, लेकिन कार में बैठने से पहले ही वहां मौजूद करीब 3 लोगों ने उनकी आंखों में मिर्ची पाउडर झोंक दिया. इससे पहले कुछ समझ आता, तीनों ने भिसीकर के हाथों से बैग छिनने की कोशिश करने लगे.

    चाकू से किया वार
    भिसीकर ने पूरजोर विरोध किया और लूटेरों को बैग नहीं छिनने दिया. ऐसे में तीनों में से एक ने चाकू से भिसीकर के हाथ पर वार कर उसे घायल कर दिया. चाकू लगने से भिसीकर के हाथ से बैग छूट गया और तीनों अज्ञात आरोपी वहां से बैग लेकर फरार हो गये.

    CCTV में भी नहीं हुए कैद
    उधर, घटना की जानकारी मिलते ही डीसीपी कदम और लकड़गंज थाने के पीआई संतोष खांडेकर समेत सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गये. आरोपियों की पहचान के लिए आसपास की बिल्डिंग में लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग देखी गई. लेकिन परिसर में अंधेरा होने से आरोपियों की पहचान करना संभव नहीं हो सका. पुलिस द्वारा तुरंत ही लुटेरों की तलाश शुरू कर दी गई. पुलिस का शक है कि आरोपियों ने सचिन के कार्यालय से कुछ दूरी पर अपने वाहन खड़े किए होंगे.

    ज्ञात हो कि मई, 2016 में शहर समेत पूरे राज्य में खलबली मचा देने वाले डिब्बा कारोबार मामले में शहर पुलिस और क्राइम ब्रांच द्वारा अनेक व्यापारियों पर कार्रवाई की गई थी और कई शक के घेरे में आये थे. इस मामले में आरोपी के तौर पर सचिन अग्रवाल का नाम सामने आया था. हालांकि इस बात की जांच की जा रही है कि इस मामले में दोनों नाम ही एक जैसे हैं या फिर व्यक्ति भी वही है. ऐसे में लूटी गई रकम को भी डिब्बा कारोबार से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि वास्तविकता पुलिस जांच के बाद ही सामने आ सकेगी. उधर, देर रात तक डीसीपी कदम और अन्य अधिकारी मामले की जांच में जुटे रहे.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145