Published On : Tue, Apr 7th, 2015

नांदागोमुख : आधे एकड़ खेत में उगाई 70 क्विंटल गीली हल्दी


3 लाख के ऊपर उत्पन्न का अनुमान

Wet Turmuric
नांदागोमुख (नागपुर)। कलमेश्वर तालुका और सावनेर तालुका के नांदागोमुख गांव से 5 किमी दुरी पर दाढेरा (तिंडगी) में किसान रामचंद्र नेमाजी मेश्राम (60) ने मोहगांव भदाडे गांव के किसान मदनकर से 1 क्विंटल हल्दी के बिज 25,000 रु. में ख़रीदे और घर के समीम दाढेरा के आधा एकड खेत में हल्दी की अच्छी फसल उगाई. हल्दी फसल को 7 से 8 बार दिसंबर 2014 तक पानी दिया तथा फसल को सफर फॉस्पेट और यूरिया डाला. जनवरी से फरवरी 2015 में खेत जोतकर हल्दी निकाली. गिली हल्दी आधे एकड में 60 से 70 क्विंटल है. उसकी कटाई शुरू है. उसमे से 18 से 20 क्विंटल हल्दी के बिज 60 से 70 रु प्रति किलों है.

बची 50 क्विंटल हल्दी यंत्र द्वारा निकाली जाएगी. करीब 7 क्विंटल हल्दी को पिसकर 130 से 140 रू. प्रति किलो बेचीं जाएगी. ऐसा किसान रामचंद्र नेमाजी मेश्राम ने कहां. हल्दी की फसल कम खर्च में ज्यादा मुनाफा देनेवाली हुई. जिससे मै बैंगन, मिर्ची और अन्य सब्जी की फसल बंद करके 2 से 3 एकड़ में हल्दी लगाऊंगा ऐसा किसान ने कहां तथा दाढेरा गांव के मनोहर पाटिल ने भी हल्दी की फसल उगाई और उनको भी अच्छा मुनाफा हुआ. अब गांव के बाकी किसान हल्दी की फसल उत्पन्न करने के लिए तैयार हुए है. रामचंद्र मेश्राम के पास कुछ किसानों ने 60 से 70 रु. भाव से बिज खरीदने के लिए बुकिंग भी की है तथा सावनेर, कलमेश्वर और नरखेड तालुका में भी हल्दी का उत्पन्न लेनेवाले किसान दिखाई दे रहे है.