Published On : Fri, May 4th, 2018

राज्य में 61 प्रतिशत जनता नहीं संतुष्ट राज्य में भाजपा-सेना सरकार से : महासर्वेक्षण

नागपुर: साल भर बाद भीतर महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव होंगे। इस पृष्ठभूमि पर पुढारी समाचार पत्र और एक टेलीविज़न चैनल ने एक सर्वेक्षण किया और लोगों के मन की बात जानने की कोशिश की जिसमें कई चौंकानेवाले तथ्य सामने आए हैं जिसमें पूछे गए एक सवाल में 61 प्रतिशत लोगों ने भाजपा-शिवसेना की गठबंधनवाली सरकार सेअसंतुष्टि दर्शाई है. हालांकि सर्वे में मुख्यमंत्री के रूप में सीएम फडणवीस को दोबारा देखना चाह रही है.

सर्वे में फडणवीस सरकार का प्रदर्शन कैसा है? जनता किसके साथ है, सरकार की नीतियां, निर्णय और योजना से जनता संतुष्ट है या नहीं इन मुद्दों पर पुढारी समाचार पत्र और एक टेलीविज़न चैनल ने महाराष्ट्र में सर्वेक्षण किया।

इस सर्वेक्षण के अनुसार 

– क्या आप महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना सरकार के प्रदर्शन से संतुष्ट हैं?

हां – 39 प्रतिशत
नहीं – 61 प्रतिशत

– सरकार के प्रदर्शन के लिए आप 10 में से कितने अंक देंगे ?

1 से 3 अंक (डमी प्रदर्शन) – 37 प्रतिशत
4 से 6 अंक (अच्छा प्रदर्शन) – 36 प्रतिशत
7 से 10 अंक (सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन) – 27 प्रतिशत

– यदि चुनाव किया जाता है तो आप किस पार्टी को वोट देंगे?

बीजेपी – 27 प्रतिशत
शहरी महाराष्ट्र – 31 प्रतिशत
ग्रामीण महाराष्ट्र – 25 प्रतिशत
राष्ट्रवादी कांग्रेस – 25 प्रतिशत
शहरी महाराष्ट्र – 19 प्रतिशत
ग्रामीण महाराष्ट्र – 27 प्रतिशत
शिवसेना – 17 प्रतिशत
शहरी महाराष्ट्र – 16 प्रतिशत
ग्रामीण महाराष्ट्र – 18 प्रतिशत
कांग्रेस – 17 प्रतिशत
शहरी महाराष्ट्र – 16 प्रतिशत
ग्रामीण महाराष्ट्र – 17 प्रतिशत
अन्य – 14 प्रतिशत
शहरी महाराष्ट्र – 18 प्रतिशत
ग्रामीण महाराष्ट्र – 13 प्रतिशत

– सरकार कौन से मुद्दे पर असफल रही है ?

किसान आत्महत्या – 53 प्रतिशत
बेरोजगारी – 50 प्रतिशत
महिला अत्याचार – 41 प्रतिशत
कानून / व्यवस्था – 31 प्रतिशत
शिक्षा नीति – 29 प्रतिशत
सामाजिक सुलह – 21 प्रतिशत
उद्योगों के प्रचार की कमी – 17 प्रतिशत
ई-गवर्नेंस कमियां / त्रुटियां – 12 प्रतिशत
ऑनलाइन सातबारा की समस्याएं  – 16 प्रतिशत

– चार साल के सरकारी निर्णयों में से कौन सा निर्णय अधिक प्रभावी था?

जलयुक्त शिवार योजना – 57 प्रतिशत
किसान कर्जमाफ़ी  – 33 प्रतिशत
कौशल विकास योजना – 16 प्रतिशत
स्टार्ट-अप योजना – 14 प्रतिशत
सेवा गारंटी अधिनियम – 12 प्रतिशत

– आने वाले विधानसभा चुनावों के बाद राज्य के मुख्यमंत्री कौन होना चाहिए ?

देवेंद्र फडणवीस – 25 प्रतिशत
अजित पवार – 18 प्रतिशत
उद्धव ठाकरे – 15 प्रतिशत
पृथ्वीराज चव्हाण – 11 प्रतिशत
धनंजय मुंडे – 6 प्रतिशत
राज ठाकरे – 6 प्रतिशत
अशोक चव्हाण – 9 प्रतिशत
सुप्रिया सुळे – 5 प्रतिशत
पंकजा मुंडे – 5 प्रतिशत

– कैबिनेट के कौन से मंत्री का काम प्रभावी रहा है ?

देवेंद्र फडणवीस, मुख्यमंत्री (गृह, शहरी विकास, कानून और न्याय) – 16 प्रतिशत
चंद्रकांत पाटिल (राजस्व, लोक निर्माण विभाग) – 16 प्रतिशत
सुधीर मुनगंटीवार (वित्त और योजना, वन मंत्री) – 3 प्रतिशत
गिरीश महाजन (जल संसाधन मंत्री) – 2 प्रतिशत
पंकज मुंडे (महिला एवं बाल विकास और ग्रामीण विकास मंत्री) – 12 प्रतिशत
रामदास कदम (पर्यावरण मंत्री) – 2 प्रतिशत
विनोद तावडे (स्कूल शिक्षा, उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री) – 4 प्रतिशत
अन्य – 25 प्रतिशत
कोई नहीं – 18 प्रतिशत

– निम्नलिखित में से कौन से मुद्दे का असर आने वाले  चुनाव पर होगा ?

किसानों का सवाल – 50 प्रतिशत
मराठा मोर्चा – 41 प्रतिशत
नोटबंदी – 38 प्रतिशत
जीएसटी – 35 प्रतिशत
बैंक घोटाले – 28 प्रतिशत
कोरेगांव भीमा हिंसा – 23 प्रतिशत

– आगामी विधानसभा चुनावों में मोदी फॅक्टर  प्रभावी होंगे क्या?

हाँ – 25 प्रतिशत
नहीं – 47 प्रतिशत
बता नहीं सकते – 28 प्रतिशत