Published On : Fri, Feb 6th, 2015

चंद्रपुर : बिना वजह 55 कामगारों को निकाला काम से


जिलाधिकारी कार्यालय के सामने सामूहिक मुंडन

55 Woker hairless
चंद्रपुर।
मूल तहसील स्थित राजुली स्टील एंड अलॉय कंपनी आकापुर मेंकार्यरत 55 कामगारों को बिना किसी सूचना के कंपनी ने काम से निकाल दिया. कंपनी की इस नीति के विरोध में गुरुवार को कामगारोंने विदर्भ प्रहार कामगार संगठन के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय के सामने सामूहिक मुंडन कर कंपनी के प्रति अपना रोष व्यक्त किया तथा बेमियादी अनशन शुरू किया.

कंपनी ने 22 फरवरी 2013 को एक तथा 25 फरवरी 2014 को दूसरे कामगार को काम ने निकाल दिया. कंपनी द्वारा काम से निकाले गए दो कामगारों ने इसकी शिकायत सहायक कामगार आयुक्त से की. इस दौरान सरकारी कामगार अधिकारीने कंपनी को भेंट दी. लेकिन डेढ महीने के बाद ही अन्य कामगारोंको बिना किसी सूचना के काम से निकाल दिया गया.

Advertisement

पहली बार निकाले गए दो कामगारोंने अपने शिकायत पत्र में उन्हें 12 घंटों के लिए विशेष भत्ता न देते हुए 240 व 116 रु. मजदूरी मिलने तथा अन्य समस्याओं के विषय में जानकारी दी थी. लेकिन संबधित सरकारी कामगार अधिकारियोंने कंपनी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. कामगारों को बिना वजह तथा सूचना दिए बिना काम से निकाले गए मामले को पी.एम.ए.एस. अंतर्गत चलाया नहीं गया. इस बीच सरकारी कामगार अधिकारी ने संगठन को साथ लेकर कंपनी से कामगारों पर काम पर लेने के लिए समझौता किया. लेकिन प्रबंधन ने कामगारों को काम पर नहीं लिया. सरकारी कामगार अधिकारी ने कंपनी पर भी कोई कार्रवाई नहीं की. अधिकारी की कंपनी के साथ मिलीभगत होने का आरोप विदर्भ प्रहार कामगार संगठन की अध्यक्षअधि हर्षलकुमार चिपलुणकर ने लगाया.

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement