Published On : Fri, Mar 17th, 2017

मार्च अंत तक तैयार करने हैं संभाग में 50 प्रतिशत सॉइल हेल्थ कार्ड

soil health card
नागपुर
: ‘सॉइल हेल्थ कार्ड’ (मृदा स्वास्थ्य कार्ड) तैयार करने की महायोजना के अंतर्गत फरवरी अंत तक नागपुर संभाग के छह जिलों में अकेले 45 से 50 प्रतिशत सॉइल हेल्थ कार्ड तैयार करने का लक्ष्य पूरा किया जा रहा है। लेट लतीफी ही सही लेकिन संभाग कार्यालय का दावा है कि फील्ड से सॉइल सैंपल जुटाए जा चुके हैं अब हेल्थ कार्ड जारी करा शेष रह गया है। खास बात यह है कि टार्गेट पूरा करने के िलए मृदा परीक्षण करनेवाले सरकारी और निजी प्रयोगशालाओं में तीन तीन शिफ्ट में नमूनों का परीक्षण किया जा रहा है।

नागपुर संभाग में योजना के तहत 2 लाख 21 हजार 974 सॉइल हेल्थ कार्ड बनाए जाने थे। जबकि फरवरी अंत तक 1 लाख 15 हजार 576 मृदा नमूने जांचे गए हैं। जाहिर है मार्च का महीना प्रधान मंत्री की इस महत्वकांक्षी परियोजना के लिए महत्वपूर्ण साबित होनेवाला है। अब तक 3 लाख 65 हजार 979 मृदा कार्ड जारी किए जा चुके हैं।

सिविल लाइन्स के प्रशासकीय इमारत क्रमांक – 2 मेें बने कृषि संचालनालय कार्यालय से मिली संभाग की जानकारी के अनुसार नागपुर जिले में योजना के दूसरे चरण में 52 हजार सॉइल सैंपल जमा किए जाने थे। फरवरी अंत तक यहां 46376 सॉइल हेल्थ कार्ड जारी किए जा चुके हैं। इसी तरह वर्धा जिलमें 35 हजार 671 नमूने जुटाए जाने का लक्ष्य था जिसमें से 26 हजार 667 कार्ड जारी किए गए। भंडारा में 29 हजार 90 में से 22 हजार 813, गोंदिया में 28 हजार 404 में से 17 हजार 654, गढ़चिरोली में 27 हजार 318 में से 23 हजार 757 व चंद्रपुर जिले में 52 हजार 700 नमूनों के लक्ष्य के मुकाबले 30 हजार 215 नमूने जुटाए जा चुके हैं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement