Published On : Mon, Mar 16th, 2015

अकोला : 42 वी सब ज्युनियर राष्ट्रीय व अंतरराज्य कैरम चैम्पियनशिप श्रीहरि, नितिश व निधि गुप्ता बने चैम्पियन

Advertisement

Carom-Championship
अकोला। भारत में सर्वश्रेष्ठ खिलाडियों को तैयार करने के प्रशिक्षण केंद्र खोलने की जरूरत है. जिले में अच्छे खिलाडी तैयार हो इसलिए स्पोर्टस एक्सीलेन्स सेंटर खोलने का प्रयास करेंगे. ऐसा प्रतिपादन 42 वी सब ज्युनिअर राष्ट्रीय व अंतरराज्य अजिंक्य कैरम प्रतियोगिता के पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान विधायक रणधीर सावरकर ने किया. इस अवसर पर आल इंडिया कैरम फेडरेशन के उपाध्यक्ष संदीप पुंडकर, अधि. सुभाष मुंगी, अधि. महेंद्र साहू, अमृता कौर नागरा, डॉ. अभय पाटील, उपस्थित थे.

पुरस्कार वितरण समारोह दैरान उपस्थित अखिल भारतीय कैरम एसोसिएशन के सचिव प्रभजीतसिंह बछेर ने कहा कि खिलाडी को ओलम्पिक खेल को ध्यान में रखते हुए तैयारी करनी चाहिए. शुरूआत से ही खिलाडी ओलम्पिक खेल को ध्यान में रखकर प्रैक्टिस करता है तो निश्चित रूप से ओलम्पिक में भारत को ज्यादा से ज्यादा पदक प्राप्त होंगे. कार्यक्रम का संचालन सोनाली जोशी ने किया. तामिडनाडु के श्रीहरी नितिश व चंदीगढ की निधि गुप्ता ने 42 वीं सब ज्यूनिअर राष्ट्रीय व अंतरराज्य कैरम प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हासिल कर चैम्पियन बनने का गौरव हासिल किया जबकि कैडेट गुट में उत्तर प्रेश के शिवदयाल यादव तथा तमिलनाडु की जननी विजेता बनी. तमिलनाडू के श्रीहरी निथिश ने अंतिम मुकाब्ले में शानदार प्रदर्शन करते हुए मणिपुर के अटल शैखोम को 12-10, 09-07 के अंतर से हराकर प्रथम स्थान हासिलन किया. जबकि मणिपूर के अटल शौखोम को अंतिम मुकाबले में मिली हार के कारण रजत पदक से संतोष करना पडा. कांस्य पदक के लिए खेल गए मुकाबले में तमिलनाडु के.जी. मुकेश व अपने ही राज्य के आर. सुरिया को 08-07, 16-02 के अंतर से हराकर तीसरा स्थान प्राप्त किया. जबकि तमिलनाडू के आर. सुरिया को चौथे स्थान से संतोष करना पडा. तमिलनाडू के आर. संतोष पांचवे, महाराष्ट्र के शिवम म्हात्रे छटे, मणिपूर के ऐहोबसिंह सातवे तथा मध्य प्रदेश के यश धुर्वे आठवे स्थान पर रहे.

रिधोरा में जसनागरा पब्लिक स्कूल में कैरम फेडरेशन आफ इंडिया अंतर्गत विदर्भ कैरम एसोसिएशन, जसनागरा पब्लिक स्कूल व इंडियन सोशल एण्ड रिसर्च फाऊंडेशन की ओर से 42 वीं सब ज्यूनिअर राष्ट्रीय व अंतरराज्य अजिंक्य कैरम प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था. प्रतियोगिता में गोवा, राजस्थान, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, विदर्भ, गुजरात, मणिपूर, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडू, छत्तीसगढ, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, चंदीगढ समेत 16 राज्यों से खिलाडियों ने सहभाग लिया था.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement