Published On : Wed, Sep 19th, 2018

नागपुर मंडल के मध्य रेल में वर्ष की पहली पेंशन अदालत में पहुंचे 37 मामले

नागपुर: मध्‍य रेल नागपुर मंडल पर 18 सितंबर को वर्ष 2018 की प्रथम पेंशन अदालत का आयोजन गुंजन सभागृह में किया गया. मंडल रेल प्रबंधक सोमेश कुमार ने अदालत की अध्‍यक्षता की और पेंशनरों को संबोधित करते हुए कहा कि, पेंशन अदालत के अलावा सेवानिवृत्‍त कर्मचारी एवं उनके आश्रित कार्यालयीन दिवस में आस्‍था के माध्‍यम से अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं, जिसका समाधान निर्धारित समय में किया जाएगा.

उन्‍होने संतोष व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि, सेवानिवृत्‍ती के समय कर्मचारियों के विभिन्‍न निपटारा राशियों के भुगतान के साथ अवकाश वेतन का भी भुगतान किया जा रहा है. पेंशन अदालत में अपर मंडल रेल प्रबंधक त्रिलोक कोठारी, भारतीय स्‍टेट बैंक के उप प्रबंधक शेवाईकर उपस्थित थे. भारतीय स्‍टेट बैंक/नागपुर के उप प्रबंधक शेवाईकर ने सेवानिवृत्‍त रेल कर्मचारियों के पेंशन संबंधि प्रश्‍नों के उत्‍तर दिये एवं उनका समाधान किया .

मंडल कार्मिक अधिकारी एन.एस काजी ने पेंशन अदालत की शुरूआत में अपनी प्रस्‍तावना में कहा कि, इस वर्ष की प्रथम पेंशन अदालत में 37 मामले आये इसमें 24 ग्रहणीय एवं 13 अग्रहणीय मामले पाये गये जिसमें से 24 ग्रहणीय मामलो में से 7 मामलों का निपटारा करके 16 लाख 91 हजार 825 रुपये का भुगतान किया गया है. उन्‍होंने सेवानिवृत्‍त कर्मचारियों के हितों के लिए किए गये विभिन्‍न प‍हलुओं पर प्रकाश डाला.

इस अवसर पर वरिष्‍ठ मंडल वित्‍त प्रबंधक चन्‍द्रकांत कदम, सहायक मंडल वित्‍त प्रबंधक आर. एस. गजभिए, सहायक कार्मिक अधिकारी सांझी जैन, लेखा एवं कार्मिक विभाग के कर्मचारी, पेन्‍शनर्स असोसिएशन तथा मान्‍यताप्राप्‍त युनियन के सदस्‍य उपस्थित थे. पेंशन अदालत कार्यक्रम का संचालन तथा आभार प्रदर्शन सहायक कार्मिक अधिकारी श्री एस.आर. दायमा ने किया.