| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Oct 22nd, 2018

    पहल : 34 लाख गावों के 3 लाख बचतगटों को उत्पाद बिक्री के लिए मिलेगी जगह : सीएम

    नागपुर: राज्य के 34 हजार गांवों में 3 लाख से भी अधिक महिला बचत गट हैं. इनके द्वारा उत्पादित विविध वस्तुओं की बिक्री के लिए उन्हें जिलास्तर पर स्वतंत्र जगह उपलब्ध की जाएगी. इसके साथ ही बचत गटों को उत्पादन व व्यवस्थापन के संदर्भ में प्रशिक्षण भी दिया जाएगा. यह घोषणा मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने की. उनके हाथों राज्यस्तरीय महालक्ष्मी सरस प्रदर्शनी बिक्री का उद्घाटन दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र सिविल लाइन्स में हुआ. यह प्रदर्शनी 2 नवंबर तक चलने वाली है.

    इस अवसर पर पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, जिप अध्यक्ष निशा सावरकर, सांसद विकास महात्मे, विधायक जोगेन्द्र कवाड़े, सुधाकर देशमुख, गिरीश व्यास, मल्लिकार्जुन रेड्डी, आशीष जायस्वाल, ग्राम विकास सचिव असीम गुप्ता, विभागीय आयुक्त अश्विन मुदगल, जिप सीईओ संजय यादव, राज्य ग्रामीण जीवनोन्नति अभियान की सीईओ आर. विमला उपस्थित थे. सीएम ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को गति देने में महिलाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं. उन्होंने कहा कि 5 लाख परिवारों की जीविका चलाने वाले बचत गटों की उत्पादन क्षमता 500 करोड़ की है. बचत गटों को अब तक विविध योजनाओं के माध्यम से 42000 करोड़ की सहायता दी गई है.

    96 हजार ने शुरू किया स्वरोजगार
    सीएम ने कहा कि बचतगट आंदोलन में बैंकों ने भी महत्वपू्र्ण सहयोग किया है. बचत गटों को दिया गया लोन कभी डूबता नहीं बल्कि समय से पहले भी जमा होता है. उन्होंने कहा कि सरकार ने दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य विकास योजना के माध्यम से 27 हजार युवाओं को प्रशिक्षण दिया जिसमें से 14 हजार को रोजगार प्राप्त हुआ है. वहीं 1.25 लाख युवाओं को स्वरोजगार का प्रशिक्षण दिये जाने से 96 हजार के करीब युवाओं ने स्वरोजगार शुरू किया. जीवनोन्नति अभियान के माध्यम से राज्य में उत्तम कार्य शुरू है. अस्मिता योजना, कुक्कुटपालन से महिला बचत गट आर्थिक मजबूत हो रहे हैं.

    सिटी में पहला आयोजन
    पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा कि महालक्ष्मी सरस प्रदर्शनी का आयोजन पहली बार सिटी में हो रहा है. इसका उद्देश्य महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराना है. नागपुर में हरित क्षेत्र में 1000 महिलाओं को रोजगार मिला है. डीपीसी के माध्यम से रामटेक, काटोल तहसील में मछलीमारों व पशुसंवर्धन करने वाले बचत गटों को 50 करोड़ अनुदान दिया गया है. विद्युत प्रकल्पों से निकलने वाली राख से विविध उत्पादन के जरिये जिले में 10 हजार से अधिक महिलाओं को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा.

    बचत गटों को सत्कार
    सीएम के हाथों उमेद अंतर्गत बचत गटों को उत्पादन बढ़ाने के लिए सरकार की विविध योजनाओं से मंजूर निधि का चेक वितरित किया गया. कौशल्य योजना के तहत प्रशिक्षण प्राप्त कर विविध कंपनियों व सरकारी कार्यालयों में नियुक्ति प्राप्त प्रणाली मेश्राम, तौफीक शेख, दीपक फुलमाली को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया. वर्ष 2017-18 में ‘उमेद’ के तहत उल्लेखनीय कार्य करने वाले वर्धा जिप सीईओ अजय गुल्हाने, कोल्हापुर सीईओ कुणाल खेमनार का सम्मान किया गया.

    दमसांके की वेबसाइट का लोकार्पण
    सीएम के हाथों दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र की संस्कृति की जानकारी देने वाली वेबसाइट का लोकार्पण किया गया. केंद्र व्यवस्थापक दीपक खिरवडकर ने जानकारी दी कि वेबसाइट www.sczcc.gov.in में महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश व तेलंगाना राज्य की संस्कृति का दर्शन किया जा सकता है.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145