Published On : Thu, Jun 10th, 2021

अंबाला तालाब में डूबे सिटी के 2 युवा

किराये की टैक्सी से रामटेक गए थे 6 दोस्त घूमने

रामटेक. यहां के अंबाला तालाब में घूमने गए सिटी के 2 युवकों की डूबने से मौत हो गई. 6 दोस्त घूमने के नाम से नागपुर से किराए की टैक्सी लेकर अंबाला तालाब गए थे. यहां पर निसर्ग प्रभाकर वाघ और कुणाल अशोक नेवारे की डूबने से मौत हो गई, जबकि 4 दोस्त किसी तरह खुद की जान बचाने में सफल रहे.

बुधवार की सुबह कार में सवार होकर लक्ष्मीकांत अनिल बाबिलकर निवासी गोधनी, प्रणय अजय वासनिक निवासी गिट्टीखदान, अभिनव अजय जिचकार (सभी की उम्र 17 वर्ष) निसर्ग प्रभाकर वाघ 18 वर्ष, कुणाल अशोक नेवारे 17 वर्ष (तीनों निवासी रविनगर परिसर) रामटेक घूमने के लिए निकले. सभी युवक 12वीं कक्षा में एक साथ पढ़ने के कारण दोस्त थे. सभी ने किराए की टैक्सी की थी.

रामटेक पहुंचने के बाद वे सबसे पहले राम मंदिर भगवान राम के दर्शन के लिए गए. लेकिन मंदिर बंद होने की वजह से वे वापस लौटकर अंबाला तालाब की तरफ जाने लगे. अस्थायी पुलिस चौकी द्वारा उनको जाने से रोका गया. इसके बाद सभी ने टैक्सी को आमगांव में पार्क किया और पैदल ही पहाड़ी चढ़कर अंबाला तालाब के किनारे पहुंच गए.

2 दोस्त ऊपर ही बैठे रहे, जबकि 4 दोस्त नहाने तालाब में उतरे. पानी में उतरे युवकों में से किसी को भी तैरना नहीं आता था. चारों को डूबता देख बाहर बैठे 2 युवकों ने किसी तरह 2 दोस्तों को बाहर निकालने में सफलता पाई. लेकिन वे प्रभाकर और कुणाल को नहीं बचा सके.

एक का शव अब तक गायब
बाहर निकलने के बाद चारों युवकों ने आसपास के लोगों से मदद मांगी. जब तक लोग वहां पहुंचते कुणाल और निसर्ग पानी में डूब चुके थे. इस बीच रामटेक पुलिस स्टेशन में युवकों की डूबने की जानकारी दी गई. जिस पर पुलिस निरीक्षक प्रमोद माकेश्वर, सहायक पुलिस निरीक्षक दत्तप्रसाद शेंडगे, उप पुलिस निरीक्षक शिवाजी बोरकर सहित अन्य पुलिस कर्मचारी मौके पर पहुंचे. उन्होंने स्थानीय गोताखोरों को बुलाकर पानी मे उतारा और डूबे युवकों को बाहर निकालने के लिए प्रयास शुरू किया. लेकिन देर शाम तक केवल निसर्ग का ही शव मिल सका. कुणाल का शव अब तक नहीं मिला है.

दोनों इकलौते बेटे थे
दोपहर लगभग 2 बजे एनडीआरएफ का एक दल भी अंबाला पहुंचा. टीम ने कुणाल के शव को ढूंढने का भरपूर प्रयास किया. लेकिन अधिक गहराई होने के कारण उसका शव नहीं मिल सका. गुरुवार को सुबह दोबारा शव की तलाश की जाएगी. हादसे की खबर मिलने के बाद युवकों के परिजन भी मौके पर पहुंचे. मृत दोनों दोस्त अपने माता-पिता के इकलौते बेटे थे.

मृतक निसर्ग के पिता भिवापुर पंचायत समिति मे विस्तार अधिकारी हैं. निसर्ग के शव का पोस्टमार्टम उप जिला अस्पताल में किए जाने के बाद पुलिस ने अंतिम संस्कार के लिए शव उसके परिवार को सौंप दिया. फिलहाल रामटेक पुलिस स्टेशन द्वारा सीआरपीसी 174 के तहत प्रकरण दर्ज करके आगे की जांच की जा रही है.