Published On : Wed, Jan 7th, 2015

पुसद : 2 सागवान तस्कर गिरफ्तार


पुसद वनविभाग क्षेत्र कई वर्षों से चल रही तस्करी

Saagwan smugler
पुसद (यवतमाल)।
गत कई वर्षों से पुसद वन विभाग में अवैध तरीके से सागवान पेड़ों की कटाई हों रही है. इस तस्करी के धागे तेलंगा से होने की बात उजागर हुई है. इस मामले में दो सागवान तस्कर पुसद वन विभाग ने पकड़े है. इन तस्करों से महत्वपूर्ण जानकारी मिलने की संभावना है.

महागाव  न्यायालय ने दो सागवन तस्कर पुसद वन विभाग के हवाले किए है. पुसद वन अधिकारी ने आरोपियों को खंडाला और सिंगद के  घटनास्थल पर ले जाने पर आरोपियों ने तस्करी की कबूली दी. तेलंगणा के आरोपी निजाबाद निवासी शेख इकबाल शेख जब्बार (27) और पुसद के शिवाजी वार्ड निवासी विठ्ठल धनाजी माने (36) के नाम है. 30 दिसंबर 2014 की तड़के 5 बजे पुसद तहसील के खंडाला कुख्यात वन तस्कर अप्प्या ऊर्फ  शेख इरफान शेख रहेमान और अन्य 3 युवतियों को अवैध सागवान के 29 नग मेटॅडोर क्र. एम.एच.30/9026 में रखे. इसका मूल्य 43 हजार 803 रुपए था. यह मेटॅडोअर शेख इकबाल और विठ्ठल माने इन दो आरोपियों ने  खंडाला से उमरखेड़, हदगाव मार्ग से तेलंगणा के बिदरअली में ले गए. इस समय गश्त पर वन कर्मियों ने उक्त मेटॅडोअर सागवान समेत जब्त कर आरोपियों को गिरफ्तार किया था.

उक्त आरोपियों को महागाव वन परिक्षेत्र के अधिकारी नाईकवाडे ने कार्रवाई कर हिरासत में लिया था. पश्चात पुसद वन विभाग के हवाले किया गया था. पुसद वनअधिकारी ने आरोपियों को खंडाला के घटनास्थल पर ले जाने के पश्चात अ  या ऊर्फ शेख इरफान के खेत से चोरी का सागवान मेटॅडोअर में भरने की अधिकारियों के सामने कबूली दी. इस पर से 2 आरोपियों पर मामले दर्ज कर गिर तार किया गया.

13 अगस्त 2014 में खंडला के सागवान चोरी मामले में कूल 7 आरोपियों के अलावा 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. लेकिन एक आरोपी शेख इकबाल शेख जब्बार यह तब से फरार था. उसे अब गिरफ्तार करने में पुलिस कामयाबी मिली है. पुसद वन विभाग के सागवान तस्करी के धागेे तेलंगणा से जुड़े होने की बात स्पष्ट हो चुकी है. तेलंगना के मालापल्ली (निजामाबाद) का सबसे बड़ा लकड़ा व्यापारी और तस्कर शेख रहीम अब भी फरार है.