Published On : Wed, Apr 8th, 2015

यवतमाल : 2.14 लाख अकालपिडीत किसान सहायता से वंचित


69.49 करोड़ की राशि खाता नहीं होने से भेजी वापस

सीएम ने दिए निर्देश खाता खोलकर दें किसानों को राशि

यवतमाल। अमरावती संभाग के 2.14 लाख से भी ज्यादा  अकालपिडीत किसानों को सहायता राशी से वंचित रखा गया है. उनके लिए आयी राशि वापस राज्य सरकार को भेज दी गई है. यह बात किसानों को पता चलते ही उन्होंने सत्ताधारी मंत्री, विधायक को जमकर खरी-खोटी सुनाई. जिससे सीएम ने इस मामले में उक्त किसानों के फौरन खाते खोलकर सहायता राशि उनके खाते में ड़ालने के निर्देश संभागीय आयुक्त को दिए है.

जिससे अकाल पीडि़तों को सहायता करने के लिए प्रशासन कितना तत्पर है? इसकी पोल खुल गई है. खरीफ की बुआई के लिए किसानों को बीज खरीदने के लिए इस सहायता राशि की मदद हों सकती है. फिर भी किसानों के खाते बैंक में नहीं होने की बात बताकर उनके लिए अकाल की आयी राशि वापस लौटाई जा रहीं है. अबतक किसानों की आत्महत्याएं फसल घर में आने के बाद नहीं होती थी, मगर अब हों रही है. गत तीन माह में आत्महत्याओं की संख्या में अभूतपूर्व वृद्धि हो गई है. प्राकृतिक आपदा से किसान हैरान परेशान हों गए है. पहले खरीफ में वर्षा विलंब से आने के कारण और रबी में ओले पडऩे के कारण फसल बर्बाद
हो गई. जिससे अकाल घोषित किया गया. अकाल की चपेट में आ जाने के कारण किसानों को सहायता देने की आवाज गूंज उठी. जिसके फलस्वरूप किसानों के लिए अमरावती संभाग हेतू 69.49 लाख की राशि राज्य सरकार को वापस लौटाई गई है. जब इसके खिलाफ आवाज उठी तो वह राशि फिर लौटाने के निर्देश सीएम ने दिए है.

अमरावती संभाग में 23 करोड़ की राशि यवतमाल से, वाशिम से 1 करोड़, अमरावती से 8 करोड़, बुलडाणा से 15 करोड़ और अकोला से 20 करोड़ वापस गई है. सीएम ने कहा कि, इन सभी किसानों के फौरन  खाते खोलकर यह राशि उनके खाते में जमा की जाए. पैसे वापस गए ऐसा बतात हुए कर्मचारी नहीं थक रहें है तो दूसरी ओर किसान यह जवाब सुनकर हतबल हो गए है. विदर्भ के 7241 गावों को अकाल पीडि़त  घोषित किया गया था.

अमरावती संभाग के 5 जिलों के 19 लाख 81 हजार 768 में से 31 मार्च तक 17 लाख 68 हजार 257 किसानों के खातों में अकाल की सहायता राशि जमा की गई है, मगर 2 लाख 13 हजार 511 किसानों की राशि  वापस भेजने की बात सामने आयी थी. अमरावती संभाग में यवतमाल के 43 हजार 171 किसानों की 22 करोड़ 87 लाख की राशि वापस गई है. उसी प्रकार वाशिम के 23 हजार 473 किसानों की 1.13 करोड़  बुलडाणा के 67 हजार 574 किसानों के 15 करोड़, अकोला के 39 हजार 620 किसानों के 20 करोड़ और अमरावती के 39 हजार 693 किसानों के 8 करोड़ की राशि वापस गई है.

File pic

File pic