Published On : Tue, Feb 7th, 2017

नागपुर मनपा चुनाव में 1141 उम्मीदवार चुनाव मैदान में


नागपुर:
आगामी नागपुर महानगर पालिका चुनाव में अब कुल 1141 उम्मीदवार चुनाव मैदान में होंगे। मंगलवार को चुनाव मैदान में उतरे उम्मीदवारों के लिए नामांकन वापस लेने का अंतिम दिन था। 6 और 7 फ़रवरी को ली गई नामांकन प्रक्रिया में 433 उम्मीदवारों ने नामांकन वापस लिए। 38 प्रभागों में 151 नगरसेवकों के चयन के लिए 21 फ़रवरी को मतदान होगा। इस चुनाव में भाग लेने के लिए विभीन्न राजनितिक दलों के अधिकृत उम्मीदवारों के साथ ही कुल 1813 लोगों ने नामांकन भरा था जिसमें से नामांकन वापसी तक 1574 उम्मीदवार बचे थे अब कुल 1141 उम्मीदवार मतदान की अंतिम प्रक्रिया तक चुनाव मैदान में होंगे।

मनपा चुनाव में पार्टी से उम्मीदवारी न मिलने की वजह से काँग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के कई कार्यकर्ता और मौजूदा नगरसेवकों ने पार्टी से बगावत कर चुनाव मैदान में उतर गए थे। इतना ही नहीं बीजेपी से टिकिट की आस लगाए बैठे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के निष्ठावान कार्यकर्ताओं ने भी बगावत का रास्ता अख्तियार कर लिया था। पार्टी से उम्मीदवारी माँगने वालों की फ़ौज थी जिससे पार्टी को कार्यकर्ताओं के इस रुख का संकेत पहले से ही था। उम्मीदवारों की सूची जारी होने के बाद पार्टी और संघ के कई कार्यकर्ताओं ने निर्दलीय नामांकन भरा थे।

चुनाव में बागी उम्मीदवारों की वजह से असर को देखते हुए खुद केंद्रीय मंत्री और सभी विधायक बगावती उम्मीदवारों को मानाने में जुट गए जिसका नतीजा भी हुआ की कइयों ने अपना नामांकन अंतिम दिन वापस ले लिए। बीजेपी से जिन लोगों ने नामांकन वापस लिए है उनमे प्रमुख तौर पर वर्त्तमान नगरसेवक गोपाल बोहरे ,प्रवीण नारद ,हितेश जोशी , बाबा मैंद , क्षमा किशोर साठवणे,छाया दाने , शशिकला वड़े ,रमेश चौकीकर। सुरेखा तलवलेकर ,डॉ अरविंद तल्हा ,अनुसाय गुप्ता ,संकेत फुके प्रमुख रूप से शामिल है। शिवसेना की ओर से आरती रहागले ने जबकि काँग्रेस के मौजूदा नगरसेवक देवा उसरे और मालू वनवे ने नामांकन वापस ले लिए है। हालांकि मौजूदा नगरसेवक और नेता सत्ता पक्ष के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरे संघ के निष्ठावान कार्यकर्त्ता श्रीपाद रिसालदार अब भी मैदान में डटे हुए है।

इन्होंने नामांकन लिया वापस
विराज ढोणे, गणेश सिंगारे,संकेत फुके, कविता मेश्राम, रजनी रामटेके, दर्शन कारोंडे, अनिल आष्टणकर, अरुण नारखेडे, क्षमा साठवणे, यशवंत कुंभलकर, भाऊराव कोकणे, उषा पांडे, सुशीला नायक, संजयसिंग राठोड, शिल्पा बोडखे, संजय शिंदे, राजेश गायकवाड, साहेबराव मनोहरे, गिरीश पांडे, गोपाल बोहरे, अनिल आष्टणकर, शेख मुजीब शेख मोहम्मद, शिशिकांत मोरे, मालू वनवे, लक्ष्मी सावरकर, नुरजहा अनवर अली, रमेश चौकीकर, सुधीर लांडगे, प्रणाली अबोकर, सुधाकर खोंडे, शरद वंजारी, रमाकांत पारपल्ली, संदीप माने, ईश्वर कडबे, चंदू साठवणे, यशवंत आंबटकर, शीतल बांते, सुनील पाटील, भारती कामडी, अरविंद डकाह, गणेशलाल शाहू, संजय पाटील, सिंधु चारभे, प्रियंका सावलानी, भावना साधवानी, रमेश वानखेडे, सुधाकर खोंडे, पृथ्वीराज खोब्रागडे, संगीता वानखेडे, नागेंद्र वासनिक, रंजना कोरचे, सचिन कडू, छाया पिंगळे, सुमेधा सेना, वर्षा वासनिक, पूर्णा भोवते, करूणा घरडे, नम्रता माकोडे, रिना पाटील, सुलक्षणा सुनील चोपडा, संगीता शरद तिवारी, कमेश पाटील के साथ 433 उम्मीदवारों ने नामांकन वापस लिया है।