Published On : Thu, Jul 11th, 2019

हॉस्पिटल की लापरवाही के कारण 11 दिन के बच्चे की मौत, माता पिता ने नहीं की कोई शिकायत दर्ज

नागपुर: नागपुर शहर मेडीकल फैसिलिटी को लेकर एक हब बनता जा रहा है. जगह जगह हॉस्पिटल शुरू होने के कारण और सरकारी हॉस्पिटलों की खस्ता हालत के कारण इन निजी हॉस्पिटलों को काफी लाभ मिल रहा है. शहर में निजी हॉस्पिटलों को लेकर कई तरह की शिकायतें हमेशा से ही सामने आती रही है. जिसमें मरीजों की लूट खसोट शामिल है.

खासकर यह निजी हॉस्पिटल गरीबों से इलाज के नाम पर काफी धन उगाही भी करते है. इसके साथ ही लापरवाही भी इन हॉस्पिटलों में देखने को मिल रही है. ऐसा ही एक मामला गांधीबाग स्थित एक बड़े हॉस्पिटल में देखने को मिला है. जिसमें हॉस्पिटल की नर्स की लापरवाही के कारण एक नवजात बच्चे ने फोटो थेरेपी मशीन में दम तोड़ दिया.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बच्चे का जन्म पिछले महीने हुआ था. इसी हॉस्पिटल से बच्चे को छुट्टी दे दी गई थी. जन्म के 10 दिन के बाद जब बच्चे को हॉस्पिटल लाया गया तो जांच करने पर पीलिया पाया गया. इसके बाद बच्चे के माता पिता को यह बात बताई और उन्हें बच्चे को भर्ती करने की सलाह दी गई. बच्चे को नर्स की मौजूदगी में फोटो थेरेपी मशीन में रखा गया और मशीन में बच्चे की मौत हो गई. जानकारी के अनुसार बच्चे को एनएसयू वार्ड में रखा गया था. जहांपर 24 घंटे डॉक्टर रहना जरुरी था. लेकिन वहांपर डॉक्टर मौजूद नहीं था और नर्स सो रही थी. बच्चे की माँ ने नर्से को जगाया लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी.

इस पुरे मामले में ख़ास बात यह है की इतनी बड़ी लापरवाही होने के बाद भी किसी तरह की कोई भी शिकायत पुलिस स्टेशन में दर्ज नहीं की गई. इसके साथ ही बच्चे के माता पिता भी सामने नहीं आए. किसी भी तरह की कोई भी खबर बाहर न जाए. इसकी भी पूरी खबरदारी हॉस्पिटल प्रशासन की ओर से ली गई थी. इस बारे में जब हॉस्पिटल के संचालक डॉक्टर से बात की गई तो उन्होंने कहा की यह मैटर खत्म हो चूका है. न तो उनके माता पिता को कोई शिकायत है और न ही हमें इस मामले में कुछ कहना है.