Published On : Sat, Jun 15th, 2019

1 लाख का तैयार मटर पाऊच बरामद

दिल्ली कोर्ट के आदेश पर गोंदिया में छापा, नकली नमकीन की पोल खुली

गोंदिया: गोंदिया डुप्लीकेट माल का एक बहुत बड़ा बाजार बनता जा रहा है। यहां नकली अंग्रेजी शराब से लेकर नमकीन, कॉस्मेटिक्स और न जाने क्या-क्या चीजें लघु उद्योग के रूप में चल रहे कारखानों में तैयार हो रही है। असली पैकेट में नकली माल से पर्दा तब हटता है जब इन कारखानों पर छापामार कार्रवाई संबंधित विभाग अधिकारी, पुलिस के साथ करते है।

गोंदिया शहर के बाजपेयी वार्ड के गौतमनगर इलाके में देवी नमकीन के नाम से चल रहे एक कारखाने पर दिल्ली के पटियाला हाऊस कोर्ट के आदेश पर शनिवार 15 जून के दोपहर छापामार कार्रवाई हुई। पुलिस की रेड पड़ते ही कारखाने में भगदड़ मची। संबंधित कारखाना मालिक को पुलिस ने कोर्ट आदेश का नोटिस थमाया और तलाशी अभियान शुरू किया तो कई चौकाने वाले तथ्यों का खुलासा हो गया।

छापामार कार्रवाई दौरान इस कारखाने में महेश के ब्रांड नेम से तैयार किया जा रहा एक लाख रूपये का मटर पाऊच बरामद हुआ। यह तैयार माल तथा पाऊच पेकिंग हेतु इस्तेमाल रॉ मटेरियल, झिल्ली, रैपर, पन्नी, रोल के बंडल का भी वजन कर उन्हें बोरों में डालकर सील कर दिया गया। साथ ही कोर्ट के आदेश संख्या क्रमांक का पत्र भी उसपर चिपका दिया गया है और यह सारा माल अब कोर्ट की कस्टडी में आ चुका है।


गौरतलब है कि, उत्तरप्रदेश के लखनऊ के अमौसी इंडस्ट्रियल एरिया के नादरगंज इलाके में प्लाट नं. बी-16 पर महेश नमकीन प्रा.लि. के नाम एक बेस्ट कम्पनी है, जो बेहतरीन क्वॉलिटी का नमकीन बनाती है तथा इस कम्पनी का माल देश के 7 राज्यों में बिकता है। इसकी सबसे अधिक खपत मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में है।

मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ में की जा रही थी माल की सप्लाय
कम्पनी ने महेश नाम से अपना ट्रेड मार्क ले रखा है। कायदे से इस रजिस्टर्ड नाम के आगे या पीछे कोई नाम जोड़ा नहीं जा सकता, किन्तु गोंदिया में इस ब्रांड की हू-ब-हू नकल कर सामने छोटे शब्दों में देवी शब्द लगाकर उसमें घटिया क्वालिटी का नमकीन भरकर इस माल की सप्लाय कम दरों पर रिवा, सतना, जबलपूर और छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सहित कई शहरों में की जा रही थी, जिससे महेश के ब्रांड नेम को धक्का पहुंच रहा था।

इस कम्पनी का माल बेचने वाले सतना (म.प्र) के डिलर ने इस कम्पनी के लखनऊ दफ्तर को जानकारी दी कि, गोंदिया में कोई आदमी है जो कारखाना चला रहा है और वह आपके ब्रांड का डुप्लीकेट लेबल लगाकर माल बेच रहा है, जिसके बाद कम्पनी की ओर से दिल्ली के पटियाला कोर्ट में याचिका दाखिल की गई कि, उनके प्रोडक्ट की पैकिंग, रैपर का कलर और महेश नाम रजिस्टर्ड है, न आगे कुछ लगाया जा सकता है, न पीछे कुछ लगाया जा सकता है और कॉपी राईट नहीं की जा सकती? बावजूद इसके महाराष्ट्र के गोंदिया में उनके ब्रांड के नाम का दुरूपयोग किए जाने की जानकारी मिल रही है, जिसपर कोर्ट ने आदेश दिए कि इस एड्रेस पर रेड डालकर पुष्टि की जाए कि क्या सहीं में एैसा हो रहा है?

अदालत का आदेश पत्र लेकर टीम एसपी ऑफिस पहुंची
दिल्ली के पटियाला हाऊस कोर्ट की ऑर्डर कॉपी लेकर दिल्ली के लोकल कमीश्‍नर श्रेय सावंत, कोर्ट वकील प्रवीण कुमार, कम्पनी सेल्स मैनेजर के.एस. राशिद, अस्सिटेंड मैनेजर आशिष मिश्रा गोंदिया के एसपी कार्यालय आए और पुलिस को कोर्ट का पत्र सौंपा जिसके बाद एसपी कार्यालय ने सिटी थाने को फोन कर पुलिस फोर्स उपलब्ध करायी।

थाना प्रभारी मनोहर दाभाड़े, पो.ह. राजु मिश्रा, पो.सि. चकोले आदि गौतनगर स्थित देवी नमकीन कारखाने पर पहुंचे जहां और कारखाना मालक गुलाबराय छत्तानी और उनके पुत्र संजय छत्तानी को कोर्ट नोटिस दिखाते हुए कारखाने की तलाशी शुरू की गई। छापामार दल को मौके से 1 लाख रूपये का डुप्लीकेट तैयार माल ऑन स्पॉट मिला।

7 जुलाई को दिल्ली कोर्ट में पेश होने का आदेश
सूत्रों से प्राप्त जानकारीनुसार इस प्रकरण की सुनवाई हेतु दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने 7 जुलाई की तारिख निश्‍चित की है, डुप्लीकेटिंग करने वाले गोंदिया के कारखाना मालक को प्रत्यक्ष हाजिर होना पड़ेगा। मौके पर मौजुद दिल्ली कमीश्‍नर ने कारखाना मालक पिता-पुत्र से इस बात का बांड लिखाकर ले लिया है कि, अगर आप कोर्ट में हाजिर नहीं हुए तो आगे की कार्रवाई अदालत सुनिश्‍चित करेगी।

विशेष उल्लेखनीय है कि, इस बड़ी छापामार कार्रवाई के बाद गोंदिया के नकली माल के बाजार में खलबली मची हुई है।

 

 

 

 

 

 

 

रवि आर्य