Published On : Thu, Jun 29th, 2017

रिश्वतखोर थानेदार को 1 दिन का पीसीआर


नागपुर:
 कुही थाने के रिश्वतखोर थानेदार सुभाष काने को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है। एसीबी की टीम को चकमा देकर फ़रार हुए काने को बुधवार को धंतोली गार्डन से गिरफ़्तार किया गया था। गुरुवार को उसे एंटी करप्शन ब्यूरो के विशेष न्यायलय में पेश किया गया जहाँ से उसे न्यायाधीश वी पी गायकवाड़ ने 1 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

होटल संचालक से दो लाख रूपए की रिश्वत माँगने के जुर्म में रंगेहाँथ एसीबी के जाल में फंसे दूसरे आरोपी पुलिस सब इंस्पेक्टर संजय चौहान को 1 लाख के मुचलके पर देश न छोड़ने और जाँच में सहयोग देने की शर्त पर जमानत मिल गयी है। काने और चौहान को गुरुवार को ही कोर्ट में पेश किया गया। एपीआई संजय चौहान को कोर्ट में ही जज से उसके निलंबन की जानकारी दी।

सुनवाई के दौरान अदालत ने चौहान को 15 दिन के एमसीआर ( मजिस्टेरियल रिमांड कस्टड़ी ) में भेजने का आदेश सुनाया था लेकिन उसके वकील चंद्रशेखर जलतारे ने अदालत से जमानत की विनंती की जिसे मंजूर करते हुए उसे सशर्त जमानत प्रदान की गई। एसीबी अदालत में सुभाष काने की तरफ से वकील एमजी नायडू ने जबकि दोनों केस में सरकार की तरफ से नितिन तेलगोटे ने पैरवी की।

जिले के कुही थाने के दोनों दोनों पुलिस अधिकारियो ने उमरेड रोड स्थित आडवाणी ढाबा के संचालक विष्णु आडवाणी से पांच लाख रूपए रिश्वत की माँग की थी जिसकी शिकायत आडवाणी ने एसीबी को दी थी। ढाबा संचालक की शिकायत के बाद एसीबी ने दोनों अधिकारियों को रंगे हाँथ गिरफ़्तार किया था।