Published On : Tue, Jan 18th, 2022

डेढ़ करोड़ श्रद्धालुओं ने भागीरथी संगमं गंगासागर में डुबकियां लगाई

Advertisement

– भागीरथी गंगा तट पर पुण्यस्नान एवं विशेष पूजा अर्चना

नागपुर: ओमिक्रॉन (Omicron) की वजह से देश में कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है और संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी बीच गुरूवार एवं शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में मकर संक्रांति पर बड़ी तादाद में लोगों की भीड़ जुटी। मकर संक्रांति के अवसर पर बंगाल के सागर द्वीप में होने वाले गंगासागर मेला एवं भागीरथी नदी में एक से डेढ करोड श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई। बता दें कि गुरुवार को बंगाल में 24 घंटे के दौरान 23,467 नए कोरोना केस दर्ज किए गए थे, एक दिन पहले ही तुलना में संक्रमण के 1,312 नए मामले रिपोर्ट हुए।

Advertisement
Advertisement

वैदिक सनातन धर्म के अनुसार राजर्षि महात्मा भागीरथ की तपस्या से प्रसन्न होकर गंगाजी सृष्टि रचेता ब्रम्हाजी के कमण्डलु से गंगा मैया की अविरल धारा भगवान शंकर की जटा में समाई पश्चात भोलेनाथ की जटा से महात्मा भागीरथ के रथ के पीछे-पीछे गंगासागर में आई जहां पर प्रतिवर्ष मकरसंक्रांति की मौनी अमावस्या पर देश तथा विदेशों से लाखों करोड़ों श्रद्धालु यहां पुण्य स्नान करने पहुंचे है।

पं बंगाल के सागरदीप पर स्थित गंगासागर एवं भागीरथी गंगा नदी में डेढ़ करोड श्रद्धालुओं ने पुण्य स्नान किया, मकरसंक्रांति पर्व शुक्ल पक्ष द्धादशी तिथि मौनी अमावस्या शुक्रवार एवं शनिवार को एक से डेढ करोड लोगों ने डुबकियां लगाई है।

इससे पहले बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गंगासागर जाने वाले तीर्थयात्रियों से कोरोना नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की थी। साथ ही प्रशासन से कहा था कि वे वार्षिक मेले में बहुत बड़ी संख्या में लोगों को ना भेजें। कलकत्ता हाईकोर्ट ने 8 से 16 जनवरी तक गंगासागर मेले के आयोजन की अनुमति देते हुए पूरे सागर द्वीप को अधिसूचित क्षेत्र घोषित करने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट ने निर्देश दिया था कि मेले में आने वाले सभी लोगों ने covid-19 रोधी टीकों की दोनों खुराक ले रखी है।पं बंगाल सरकार सागर तट पर तीर्थयात्रियों के स्वागतम के लिए पूरी तरह तैयार है।


सागरदीप गंगासागर मेला परिसर में कोविड के कथित कहर से निजात पाने के उद्देश्य से जगह-जगह पुलिस बंदोबस्त,गुप्तचर विभाग, अपराध अन्वेषण, और स्पेशल ब्रांच का दस्ता था चिकित्सा शिविरों में डाक्टरों स्वास्थ्य सेवकों वह स्वास्थय सेविकाओं की टीम तैनाती रही।

नागपुर से पहुंचे श्रद्धालुओं का पुण्यस्नान
गंगासागर भारी भीड़ और धक्का मुक्की के मद्देनजर हजारों तीर्थयात्रियों ने गंगासागर मेला में न जाते हुए सीधे भागीरथी गंगा तट पर स्थित हुगली घाट,भुतनाथ घाट, बाबू घाट एवं आउटराम घाट पर पुण्य स्नान दान तथा मातृ तर्पण,पितृ तर्पण,गुरु तर्पण अर्चन और परिमार्जन किया.
इस अवसर पर कोराडी नागपुर से पहुंचे विशेष यजमान के रुप मे श्री टेकचंद सनोडिया शास्त्री ने विविध पूजन अर्चन में हिस्सा लिया।पूजा की कार्रवाई गया निवासी पं वेदप्रकाश पांण्डेय,पं श्री लालजी मिश्रा,पं श्री जगन पंड्या ने की।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement