Published On : Sat, May 10th, 2014

वर्धा : पंचायत समिती का शाखा अभियंता फरार


वर्धा

पंचायत समिति के शाखा अभियंता विनोद मुरकुटे पर शनिवार को एंटी करप्शन ब्यूरो ने रिश्‍वत मांगने के आरोप में मामला दर्ज किया है. इस बात की जानकारी मिलते ही शाखा अभियंता मुरकुटे फरार हो गया. पुलिस सरगर्मी से अभियंता मुरकुटे की तलाश कर रही है.

इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचायत समिति के शाखा अभियंता मुरकुटे के खिलाफ स्थानीय ठेकेदार सुशिल मोहता (48) ने 20 हजार रुपए रिश्‍वत मांगने की शिकायत एंटी करप्शन ब्यूरो में दर्ज कराई थी. जिस पर शाखा अभियंता पर कार्रवाई किए जाने की बात पुलिस द्वारा बताई गई है. पंचायत समिति के शाखा अभियंता द्वारा रिश्‍वत के 20 हजार रुपए शहर निवासी अपने किसी रिश्तेदार के घर पहुंचाने के लिए ठेकेदार सुशिल मोहता से कहा था. इस पर एंटी करप्शन ब्यूरो के दल ने घटना स्थल पर जाल बिछाकर कार्रवाई करते हुए रिश्‍वत की रकम जब्त की है.

स्थानीय ठेकेदार सुशिल मोहता ने पंचायत समिति अंतर्गत आनेवाले ग्राम सेलू काटे से वायगांव के बीच बने पगडंडी के गिट्टीकरण के कार्य का ठेका लिया था. यह विकास कार्य पंचायत समिति के 13 वें वित्त आयोग अतंर्गत जनवरी 2014 में ठेकेदार को सौंपा गया था. पगडंडी का गिट्टीकरण कार्य अप्रैल 2014 से पूर्व हो चुका है.

इस काम के मूल्याकंन की जिम्मेदारी शाखा अभियंता विनोद मुरकुटे पर है. ठेकेदार मोहता द्वारा गिट्टीकरण के कार्य का मूल्याकंन 5 लाख 19 हजार 946 रुपए किया गया. विकास कार्य बिल राशि में से ठेकेदार को पहली बार 2 लाख रुपयों का धनादेश व दूसरी बार 1 लाख 75 हजार रुपए का धनादेश सौंपा गया.
ठेकेदार से बकाया राशि के भुगतान हेतु शाखा अभियंता द्वारा 20 हजार रुपयों की रिश्‍वत मांगी जा रही थी. इसकी शिकायत ठेकेदार ने एंटी करप्शन ब्यूरो से करने पर मामला सामने आया है.

इस कार्रवाई में नागपुर के पुलिस अधीक्षक वसंत शिरभाते, अपर पुलिस अधीक्षक संजय पुरंदरे के मार्गदर्शन में पुलिस उपअधीक्षक दिनकर ठोसरे, अनिल लोखंडे, पुलिस निरीक्षक प्रदिप चौगावकर, पुलिस हवालदार प्रदिप देशमुख, राजेंद्र बुरबुरे, पुलिस कान्स्टेबल गिरीश कोरडे, प्रदिप कदम, निशिद रंजन पांडे, संजय डगवार, नरेंद्र पाराशर, मनिष गोडे, रागिनी हिवाले, रमाकांत सालवे शामिल थे. पं.स. के शाखा अभियंता मुरकुटे ने मांगी थी रिश्‍वत.

एंटी करप्शन ब्यूरो की कार्रवाई
रिश्तेदार के यहां पहुंचाने के लिए कहा था 20 हजार

Representational Pic

Representational Pic