Published On : Wed, Sep 3rd, 2014

मौदा : एनटीपीसी में हिंदी पखवाड़ा का शुभारंभ


Hindi pakhwada Mauda
मौदा (नागपूर)

एनटीपीसी लिमिटेड मौदा में राजभाषा अनुभाग द्वारा 1 सितम्बर से “हिंदी पखवाड़े” का आयोजन किया गया. यह कार्यक्रम 14 सितम्बर तक चलेगा. हिंदी पखवाड़े के मुख्य अतिथि महाप्रबंधक (प्रचालन एवं अनुरक्षण) वी. बसु ने उद्घाटन कर हिंदी पखवाड़े के शुभारंभ की घोषणा की. इस अवसर पर अतिथि विशेष रविन्द्र देवघरे, निवर्तमान सहायक निर्देशक (राजभाषा), आयकर विभाग, नागपूर एवं महाप्रबंधक (तकनीकी सेवाएं) राजीव अग्रवाल की उपस्थिति रही. समूह महाप्रबंधक कार्यालय के समक्ष हिंदी को प्रोत्साहित करने हेतु हिंदी पोस्टर द्वारा प्रदर्शनी लगायी गयी.

कार्यक्रम के प्रारंभ में माननीय अतिथियों का पुष्प-गुच्छ से स्वागत किया गया. तत्पश्यात राजभाषा प्रभारी द्वारा राजभाषा कार्यान्वयन एवं हिंदी पखवाड़े की जानकारियां प्रदान की गयी. साई सुधा ने सुभन्द्रा कुमारी चव्हाण द्वारा रचित “मेरा नया बचपन” कविता का पाठ किया, जिसे समस्त दर्शकों ने सरहा.

मुख्य अतिथि बसु ने कर्मचारियों को अपने दिल से संकल्प लेकर अपने कामकाज में हिंदी का प्रयोग करने हेतु प्रोत्साहित किया. उन्होंने स्वतंत्रता दिवस से लेकर अब तक राजभाषा अधिनियम, हिंदी शब्दावली, का उल्लेख करते हुए हिंदी के बढ़ते हुए प्रचार-प्रसार में देवनगरी एवं क्षेत्रीय भाषाओं के विकास का जिक्र किया. समस्त कर्मचारियों से हिंदी पखवाड़े के दौरान अपने कार्यक्षेत्र में हिंदी में कार्य करने के लिए आह्वाहन किया. हिंदी चलचित्र एवं टी.वी सिरियल द्वारा हिंदी विकास में योगदान का उल्लेख कर हिंदी पखवाड़े की विधिवत उद्घाटन किया. मुख्य अतिथि ने नागपूर से योगदान का उल्लेख किया.

Hindi pakhwada Mauda
अतिथि विशेष रविन्द्र देवघरे ने अपने उद्बोधन में उपस्थित कर्मचारियों को “प्रकाश-पुत्र” की उपमा प्रदान की. उन्होंने कहा की आपके द्वारा ही इस अचंल को प्रकाशमान बनाया जा रहा है. तकनीकी एवं प्रोद्योगिकी विकास में राजभाषा हिंदी की अहम भूमिका है, माननीय प्रधान मंत्री उद्बोधन का उल्लेख करते हुए कहा की इस तरह हम एक नया भारत निर्माण में अपना योगदान प्रदान कर सकते है. हमने दिल से हिंदी भाषा को अपना लिया है लेकिन कार्य करने की शुरुवात की जानी है, हिंदी एक वैज्ञानिक भाषा है. इस पखवाड़े के दौरान हिंदी में कार्य करने हेतु प्रोत्साहित किया.