Published On : Thu, Jul 24th, 2014

भंडारा : … और मौत ने खोज ही लिया माधोराव को !


बिजली के तार से गला कटा, दम तोड़ा

भंडारा

कहते हैं, मौत कभी किसी का इंतजार नहीं करती और जब, जहां जिसकी मौत लिखी हो तब लाख परदों में छुपाकर रखने के बाद भी उस व्यक्ति को ढूंढ ही लेती है.

साकोली तहसील के ग्राम भोरवे (किन्ही) निवासी माधोराव नत्थू पराते (50) के साथ ऐसा ही कुछ हुआ. वह खेत में काम कर रहा था जब 23 जुलाई की दोपहर रास्ते पर गिरा बिजली का तार एक वाहन में फंसने के बाद उछलकर उसके गले से जा लिपटा और उसकी मौत का कारण बन गया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, माधोराव पराते अपनी बीवी के साथ खेत में धान की बुआई के लिए गया था. उसके खेत के रास्ते पर बारिश की वजह से बिजली का पोल गिरकर पड़ा हुआ था. उस समय बिजली आपूर्ति बंद थी. उसी दौरान इस रास्ते से एक वाहन गुजरा, जिसमें फंसकर तार कुछ ऐसा उछला कि सीधे खेत में काम कर रहे माधोराव के गले में जा लटका. इससे उसका गला कट गया. जख्मी अवस्था में गांव के लोगों ने उसे अस्पताल पहुंचाया, मगर भंडारा ले जाते समय रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. साकोली पुलिस ने मामला दर्ज कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. आगे की जांच पुलिस कर रही है.

File pic

File pic