Published On : Sun, Aug 30th, 2020

परीक्षाएं न टलने से छात्रों में रोष, PM मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम को लाइक से ज्यादा मिले डिस्लाइक

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार सुबह 11 बजे अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। इस दौरान मोदी ने कहा कि कोरोना काल में देश एक साथ कई मोर्चों पर लड़ रहा है। साथ ही उन्होंने अपने संबोधन में खिलौनों और मोबाइल गेम्स के मामले में आत्मनिर्भर बनने की बात कही। उन्होंने कहा कि जितने भी वर्चुअल गेम्स हैं उनकी थीम्स बाहरी हैं। इसलिए मैं देश के युवा टैलंट से कहता हूं कि आप भारत के भी गेम्स बनाइए। इसके अलावा भी मोदी ने कई अहम बातों का जिक्र किया। मगर इस बार युवाओं उनकी प्रशंसा बिल्कुल पसंद नहीं आई। इसकी वजह है जेईई और नीट परीक्षाओं का पोस्टपोंड न होना।

दरअसल, देश में कोरोना संकट और बाढ़ के कहर के बीच देश के अधिकांश छात्र जेईई और नीट परीक्षाओं को पोस्टपोंड करने की बात कर रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने साफ कह दिया है कि परीक्षाएं अपने निर्धारित समय पर ही होंगी। उसके बाद से ही छात्र पीएम मोदी तक अपनी बात रखने का प्रयास कर रहे हैं।

उसी कड़ी में रविवार को पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम के बाद से ही बीजेपी और पीएम मोदी के यू-टूब चैनल में मन की बात वीडियो पर डिस्लाइक करने का सिलसिला शुरू हो गया। बता दें कि JEE की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच होगी और NEET की परीक्षा 13 सितंबर को कराई जाएगी।

खबर लिखे जाने तक बीजेपी के यू-टूब चैनल में मन की बात कार्यक्रम की 31 मिनट 25 सेकंड की वीडियो को 2100 लाइक और 17 हजार डिस्लाइक मिल चुके थे। वहीं, पीएम मोदी के चैनल में अपलोड 4 मिनट 50 सेकंड की वीडियो को 689 लाइक और 2600 डिस्लाइक मिले। वहीं, 4 मिनट,14 सेकंड की दूसरी वीडियो को 369 लाइक और 1400 डिस्लाइक मिले।

छात्रों ने की परीक्षा पोस्टपोंड करने की अपील

पीएम मोदी और बीजेपी के चैनल में अपलोड मन की बात कार्यक्रम की वीडियो के नीचे स्टूडेंट्स नीट और जेईई की परीक्षाएं पोस्टपोंट करने को लेकर कमेंट कर रहे हैं। छात्र बोल रहे हैं कि अगर परीक्षाएं नहीं टली तो साल बर्बाद हो जाएगा। वहीं, कुछ लोग बोल रहे हैं कि देश में पहले से ही काफी बेरोजगारी है, ऐसे में युवाओं को और परेशान करना अच्छा नहीं है।