Published On : Mon, Jun 9th, 2014

चंद्रपुर : मज़दूरों को महाजेनको पहुँचा रही पीने का पानी

Advertisement


इंसानियत का पेश किया उदाहरण

औष्णिक विद्युत केंद्र परिसर में किया पानपोई का इंतज़ाम

(प्रशांत विघ्नेश्वर)

Advertisement

चंद्रपुर

mahaashnik
चंद्रपुर औष्णिक विद्युत केंद्र का अभी विस्तार शुरू है. इस काम के लिए 1800 से 2000 मज़दूर काम कर रहे हैं. तपती गर्मी में भी ये मजदूर प्रकल्प विस्तार के लिए काम कर रहे हैं. एक सराहनीय कदम उठाते हुए महाजेनको ने इन मजदूरों के लिए पीने के पानी का इंतज़ाम लिया है जबकि ये करना ठेकेदार की ज़िम्मेदारी है नाकी महाजेनको की. ठेकेदार अपनी ज़िम्मेदारी से चुके हैं लेकिन महाजेनको ने इंसानियत का फ़र्ज़ निभाते हुए इन मजदूरों के लिए पानपोई का इंतज़ाम किया है.

चंद्रपुर औष्णिक विद्युत केंद्र में फिलहाल सात संच कार्यरत हैं और 8 वे और 9 वे संच का काम ज़ोरों शोरों से शुरू है. 160 एकड परिसर में फैले इस प्रकल्प को बढ़ाए जाने के काम के लिए सरकार ने बीएचईएल व बी जी रघुपतीराव इंजीनियर्स सिस्टम इन दो कंपनियों से करार किया है. दोनों कम्पनियाँ मुख्य कॉन्ट्रैक्टर है जिन्होंने ;प्रकल्प के अलग अलग कामों के लिए कॉन्ट्रैक्टर रखे हैं.

मजदूरों की ओर से पीने के पानी का इंतज़ाम ना होने की शिकायत के बाद महाजेनको ने कदम उठाते हुए इन मजदूरों के लिए पानपोई का इंतज़ाम पुरे परिसर में करवाया। एक निश्चित सीमा तक पानी पहुंचाने का करार कॉन्ट्रैक्टर और महाजेनको के बीच हुआ था लेकिन महाजेनको ने इंसानियत दिखाते हुए उस सीमा के आगे जाकर मजदूरों के लिए पानी की सुविधा उपलब्ध करवाई है.

महाजेनको चंद्रपुर (विस्तारित) प्रकल्प अधिकारी व्ही एम खोकले ने ये जानकारी दी

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement