Published On : Sat, Apr 26th, 2014

चंद्रपुर : बुद्ध मुर्ती हटाने का विरोध : परिसर में तनाव


आंबेडकरवादियों ने की आंदोलन की तैयारी 

म्हाडा कॉलोनी में बुद्ध मुर्ती हटाने का मामला

चंद्रपुर

रामनगर पुलिस थाने की हद में आने वाले दाताडा रोड, म्हाडा कॉलोनी के पास खुली जगह में स्थापित भगवान बुद्ध की मुर्ती हटाने को लेकर परिसर में तनाव का वातावरण निर्माण हो गया भगवान गौतम बुद्ध की मुर्ती हटाने के लिए गुरुवार को पुलिस परिसर में पहुंची थी जिनका बौद्ध समाज के लोगों ने विरोध किया. लोगों का समूह पुलिस थाने के सामने विरोध प्रदर्शन करने पहुंचा था. मजबूरन पुलिस को कार्यवाही करनी पड़ी. लोगों का आरोप है की पुलिस की ओर से धर्मगुरुओं पर लाठीचार्ज किया गया है. पुलिस ने मामले में कुछ बौद्ध बिक्खुओं को हिरासत में भी लिया जिससे लोगों में गुस्सा है।
Budhaगौरतलब है की पहले म्हाडा कॉलोनी की खुली जगह पर पांच साल से बौद्ध बांधवों ने पंचशील ध्वज की स्थापना की थी. उसी जगह पर 25 अप्रैल को भगवान बुद्ध की मूर्ति की स्थापना की गई. 24 अप्रैल को उसी जगह पर कॉलोनी के ही एक बच्चे पियूष चिवंडे का जन्मदिन मनाया जा रहा था जिसके लिए बौद्ध भिक्खु और बांधव जमा हुए थे जब पुलिस ने कार्यवाही की और ध्वज साथ ही भगवान बुद्ध की मूर्ति जब्त कर 14 लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

प्रकरण से गुस्साए लोगों ने घटना का निषेध करते हुए लाठी चार्ज करने वाले और भिक्खुओं को ज़ख़्मी करने वाले पोलिस कर्मचारियों पर कार्यवाही की मांग की है.
प्रेसक्लब में आयोजित पत्रकारपरिषद के दौरान भन्ते कृपाशरण महाथेरो, भन्ते विनायबोधिप्रिय, भंते अनिरुद्ध, भंते सुमंगल व आंबेडकरी नेता व्ही डी मेश्राम ने जल्द कार्यवाही ना होने की सूरत में तीव्र आंदोलन की चेतावनी दी है.

लाठीचार्ज हुआ ही नहीं – डॉ. राजू भुजबल

दूसरी तरफ उपविभागीय पुलिस अधिकारी डॉ. राजू भुजबल ने लाठीचार्ज की बात से इंकार किया है और कहा है की कार्यवाही में सहयोग ना देने वालों के खिलाफ उचित कार्यवाही की गई है. विरोध कर रहे लोगों में से जो लोग पुलिस थाने के परिसर से जाने के लिए तैयार ही नहीं थे उनको गिरफ्तार किया गया. सारी कार्यवाही कायदे के दायरे में ही रहकर की गए है ऐसा उपविभागीय पुलिस अधिकारी डॉ. राजू भुजबल ने कहा.
bUdh 2