Published On : Tue, Jul 8th, 2014

गोंदिया : युवा जोश से मुझे मिल रही ऊर्जा- अशोक(गप्पू) गुप्ता


अब तक 81 गांवों का दौरा कर 240 किलोमीटर का सफर तय किया जनचेतना पदयात्रा ने


छिपीया में भारत माता की पूजा-अर्चना कर देर रात चलता रहा संवाद का दौर

जिला प्रतिनिधी / राजन चौबे

गोंदिया

7 july photo-2
7 जुलाई को रावनवाडी से निकली जनचेतना पदयात्रा मूरपार गांव में पहुंचते ही जनसैलाब में उमड़ पड़ी. मूरपार से कोचेवाही और कोचेवाही से बनाथर, बड़गांव, कटंगटोला, चिरामनटोला, परसवाडा में युवाजोश बड़ी संख्या में अशोक गप्पु गुप्ता की जनचेतना मुहिम का हिस्सा बनते गए और इसी उर्जा से ये पदयात्रा झिलमीली होते हुए रात करीब 9.30 बजे छिपीया ग्राम पहुंची, जहां बड़े ही जोश और खरोश के साथ पुष्पगुच्छ देकर अशोक(गप्पू) गुप्ता व उनके समर्थकों का स्वागत किया गया.

अशोक(गप्पू) गुप्ता ने अपने आज के पदयात्रा के दौरान जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि, मेरी पदयात्रा जिन संकल्पों के साथ शुरू की गई है उसकों आज अभी से साकार होती हुई में देख रहा हूं. जिस कारंवा के साथ मैं अपनी मंजिल को पाने के लिए निकला था उसमें युवाओं सबसे बड़ा योगदान पाकर मुझे भरपूर उर्जा प्राप्त हो रही है.ऐसी ही उर्जा इस पदयात्रा के अंतिम लक्ष्य 14 जुलाई तक बनीं रहे तथा हजारों के जनसमुदाय के साथ मैं सरकार से हमारी विभिन्न मांगों पर उन्हें राजी कर सकूं यही इस पदयात्रा का संकल्प हैं.

अशोक(गप्पू) गुप्ता के इस पदयात्रा के दौरान गांव-गांव से ग्रामीण अपनी जनसमस्याएं उनके समक्ष रख रहें है, जिसे पूरा करने के लिए भी इस गंभीर मसले पर राज्य सरकार को घेरने की तैयारी चल रही है. श्री गुप्ता ने कहा कि बारिश के नहीं आने से जिन लोगों ने अपने खेतों में बिजाई डाल दी थी उन लोगों की बारिश नहीं होने से बिजाई खराब हो गई है, जिससे दोबारा बुआई करने की नौबत आन पड़ी है. दोबारा बुआई करने के लिए किसानों की आर्थिक स्थिती खराब होने से वह अत्यधिक चिंतित है और ऐसे हालातों में उन्हें उपर उठाने के लिए आर्थिक सहायता की जरूरत है. श्री गुप्ता ने किसानों की अत्यंत ज्वलंत समस्या पर प्रशासन तथा राज्य सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि प्रशासन किसानों की दयनीय अवस्था को देखते हुए तत्काल बिजाई आपूर्ती की व्यवस्था करें तथा उनके आर्थिक हाथ मजबूत करने के लिए उन्हें खरीफ 2013 का तथा रबी 2014 का बाढ़ग्रस्त, ओलाग्रस्त मुआवजा देने में तेजी दिखाए. गुप्ता ने कहा कि किसानों को अब तक कर्ज भी प्राप्त नही हो पाया है जिससे किसान भाई दलालों और साहूकारों से कर्ज लेकर सारा पैसा खेतों में फंसा बैठे है. अगर समय पर बारिश नही हुई और प्रशासन ने किसानों को राहत नही दी तो, स्थिती चिंताजनक हो सकती है.

7 july photo
इसके अलावा अशोक(गप्पू) गुप्ता ने चिरामनटोला, परसवाडा, झिलमीली, छिपीया, कोचेवाही एवं बिरसी के किसानों की अधिगृहित की गई जमीनों का मुद्दा उठाकर उन्हें तय दरों पर मुआवजा देने एवं उस परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का मुद्दा भी उठाया है जिसे बिरसी विमानपतन प्राधिकरण और जिलाधिकारी गोंदिया के समक्ष रख उसके तत्काल निबटारे पर अमल किया जाएगा.

पदयात्रा में विनायक खैरे, पप्पु पटले, सनम कोल्हटकर, सुनिल पटले, आनंद जतपेल, चुनेश पटले, आनंद ठाकुर, हरी जमरे, राजेश मानकर, गोपाल अजनीकर, बाबाभाई, ऐजाजभाई, राजा तिवारी कुंवरलाल पुसाम, रामेश्वर मरकाम, घनश्याम ब्राम्हणकर, नितीन तुरकर, चंदन परतेती, पंकज तिड़के, राजा गौतम, गोपाल अंजनकर, प्रकाश देवाधारी, नाजुक शेंडे, छगन माने, अंकेश हरीणखेडे, विजय उके, कुंदन डहाट, अनीस खान, अंचल गिरी, राजु बागडे, बबलु पटले एवं भारी संख्या में ग्रामीण नागरिक और समर्थक उपस्थित थे.
7 july photo-1