Published On : Sat, Aug 2nd, 2014

गोंदिया : कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर सरकार पर दबाव बनाने की आदत डालें


प्रफुल पटेल का आवाहन, गोंदिया में हुआ संकल्प सम्मेलन


गोंदिया

nirdhar Melava  (2)
लोकसभा चुनाव में मिली पराजय को भूलकर आगामी दो महीने में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं को उत्साह और तन-मन के साथ जुट जाना चाहिए. साथ ही कार्यकर्ता विकास के राष्ट्रवादी कांग्रेस के विचार को आम जनता तक पहुंचाने में भी जी-जान से जुट जाएं. यह आवाहन राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने किया.

अजित पवार गोंदिया के पोवार बोर्डिंग सभागृह कन्हारटोली में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित ‘संकल्प सम्मेलन’ में बोल रहे थे. सम्मेलन की अध्यक्षता राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुनील तटकरे ने की. विशेष अतिथि के रूप में प्रफुल पटेल, राज्य के खाद्यान्न और नागरी आपूर्ति मंत्री अनिल देशमुख, विधायक राजेंद्र जैन, विधायक प्रकाश गजभिये, पूर्व विधायक दिलीप बनसोड़, जिलाध्यक्ष विनोद हरिणखेड़े, किशोर माथनकर, महिला जिलाध्यक्ष राजलक्ष्मी तुरकर उपस्थित थे.

पवार ने आगे कहा कि पश्चिम महाराष्ट्र की जनता हमेशा विकास काम करने वालों के पीठ पीछे खड़ी रहती है. इसीलिए पश्चिम महाराष्ट्र विकास के मामले में काफी आगे है. प्रफुल पटेल ने अपने क्षेत्र के विकास के लिए लगातार काम किया. राज्य का सर्वाधिक बिजली उत्पादन करने वाला 30 हजार करोड़ रुपए लागत का प्रकल्प तिरोड़ा में शुरू कराया. भेल का प्रकल्प निर्माणाधीन है ही. भेल और अदाणी की परियोजनाओं से जिले में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. गोंदिया में मेडिकल कॉलेज मंजूर हो गया. इसके लिए 600 करोड़ का निवेश किया गया है.

nirdhar Melava  (1)
इस अवसर पर प्रफुल पटेल ने कहा कि भले ही गोंदिया-भंडारा जिले की जनता ने उन्हें लोकसभा चुनाव में पराजित कर दिया हो, मगर वे स्थानीय जनता से दूर नहीं जाएंगे. उनके काम करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि अब कार्यकर्ताओं को सड़क पर उतरकर अपने काम करवाने के लिए सरकार पर दबाव बनाने की आदत डाल लेनी चाहिए. राकांपा अध्यक्ष सुनील तटकरे ने कार्यकर्ताओं से विधानसभा चुनाव के लिए उत्साह के साथ जुट जाने का आवाहन किया. जिले के पालकमंत्री अनिल देशमुख के अलावा विधायक राजेंद्र जैन और पूर्व विधायक दिलीप बनसोड़ ने भी अपने विचार रखे.


कार्यक्रम का प्रास्ताविक भाषण जिलाध्यक्ष विनोद हरिणखेड़ ने किया जबकि संचालन गंगाधर परशुरामकर और आभार प्रदर्शन शिव शर्मा ने किया. सम्मेलन में प्रमुख रूप से नरेश माहेश्वरी, विजय राणे, दामोदर अग्रवाल, सुशीला भालेराव, राखी गुणेरिया, गोविंद शेंडे, चुन्नीभाऊ बेंद्रे, डॉ. अविनाश जायस्वाल, बबलू कटरे, अजय गौर, डॉ, अविनाश काशीकर, मनोहर चंद्रिकापुरे, पंकज यादव, डॉ. सुशील रहांगडाले, केतन तुरकर, शीतल तिराले, रफीक खान, मनोहर वालदे, गणेश बरडे, टीकाराम मेंढे, जगदीश बहेकार, जीवन लंजे, ललिता जांभुलकर, उषा बरडे, लता रहांगडाले, भुवन रिनायत सहित जिले भर से सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे.