Published On : Mon, Jul 7th, 2014

काटोल : भाग्यवान हूं जो सबके दुःख-दर्द दूर करने का मौका मिला


होम मिनिस्टर फेम आदेश बांदेकर ने कहा


काटोल में ‘खेल मांडियेला’ में जुटी भारी भीड़


सांसद कृपाल तुमाने का सत्कार भी हुआ

काटोल

tumaane
मैंने जीवन में कभी किसी से कोई स्पर्धा नहीं की. किसी से मेरा कोई झगड़ा नहीं है. मैंने अगर किसी से स्पर्धा की भी तो इसलिए कि आनेवाला कल आज की तुलना में बेहतर कैसे हो. जो मिला उसी में संतोष किया. हाथ आया कोई मौका गंवाया नहीं. काम को अपना ईश्वर माना, इसीलिए 19 सालों से आपके घर के छोटे परदे पर रोज दिखाई देता हूं. अपने कार्यक्रमों से छोटे-बड़े सबके तनाव और दुःख-दर्द को दूर करने का मौका मुझे मिला है. मैं, सचमुच बहुत भाग्यवान हूं.

होम मिनिस्टर फेम आदेश बांदेकर ने ये विचार व्यक्त किए. वे यहां काटोल में आयोजित महिला जल्लोष सम्मेलन 2014 ‘खेल मांडियेला’ के मौके पर बोल रहे थे. स्थानीय क्रीड़ा संकुल में आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण वही थे. कार्यक्रम में नवनिर्वाचित सांसद कृपाल तुमाने का सत्कार भी किया गया. कार्यक्रम में श्री तुमाने के अलावा कार्यक्रम के स्वागताध्यक्ष युवा नेता मनोज खडतकर, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. राजीव पोतदार, किरण पांडव, शिवसेना के शहर प्रमुख दीपक रेवतकर, पूर्व नगराध्यक्ष चरणसिंह ठाकुर, भाजपा के उकेश चव्हाण और रिपाई के भीमराव बनसोड़ उपस्थित थे.

सत्कार, भेंट, सम्मान
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित नवनिर्वाचित सांसद कृपाल तुमाने का शिवसेना प्रमुख दीपक रेवतकर ने शाल-श्रीफल और सम्मान चिन्ह देकर सत्कार किया. कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण आदेश बांदेकर का विविध महिला संगठनों की प्रतिनिधि जयाताई देशमुख, राधा घोड़े, उमा भोंसे, मोहिनी कडू, स्नेहलताई खडतकर, चित्रा जगताप ने सत्कार किया. उसी तरह काटोल – नरखेड तालुका के दसवीं, बारहवीं और नागपुर विद्यापीठ के प्रावीण्यता प्राप्त 47 विद्यार्थियों का सम्मान चिन्ह , स्कूल बैग और गुलदस्ता देकर अतिथियों के हाथों सम्मान किया गया.

आभार और अभिनंदन
अपने सत्कार के जवाब में सांसद कृपाल तुमाने ने कहा कि मैं एक सामान्य परिवार से आया हूं, जिसे आप लोगों ने दिल्ली भेज दिया. उन्होंने सबका आभार मानते हुए मनोज खडतकर और आदेश बांदेकर का अभिनंदन किया.

khel madiyela
संघर्ष कम करने में मदद

जिला भाजपा अध्यक्ष राजीव पोतदार ने कहा कि ग्रामीण भागों की महिलाओं का जीवन लगातार तनावों से भरा रहता है. आदेश बांदेकर के कार्य प्रेरणादायी हैं और इससे रोजमर्रा के जीवन में आनेवाले संघर्ष कम होने में मदद मिलती है. उन्होंने इस आयोजन के लिए मनोज खडतकर का अभिनंदन किया.

10 विद्यार्थियों का शिक्षा खर्च उठाने की घोषणा
किरण पांडव ने कहा कि गुणवत्ताप्राप्त विद्यार्थियों का सत्कार सचमुच प्रेरणा देनेवाला है. उन्होंने इस मौके पर अपनी विभिन्न शिक्षा संस्थाओं में काटोल शहर के 10 गुणवत्ताप्राप्त विद्यार्थियों का शिक्षा का खर्च उठाने की घोषणा की.

हजारों महिलाओं के चेहरे पर ख़ुशी
कार्यक्रम के स्वागताध्यक्ष मनोज खडतकर ने इस अवसर पर कहा कि हमारी माता-बहनें रात में देर से सोती हैं और सुबह जल्दी उठ जाती हैं. उनका सारा काम अपने परिवार के कल्याण और सुख के लिए ही होता है. आज के इस कार्यक्रम से हजारों महिलाओं के चेहरे पर जो ख़ुशी दिखाई दे रही है, वही मेरी सफलता का द्योतक है.

तीन से साढ़े तीन घंटे चले इस कार्यक्रम में अंत तक खचाखच भीड़ रही. अंत तक पैठनी साड़ी को लेकर उत्सुकता भी बनी रही. शहर में पहली दफा हुए इस बेजोड़ कार्यक्रम में हजारों महिला, पुरुष उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन जिजाऊ ब्रिगेड की शुभांगी अरडक ने किया, जबकि आभार राजू कोतेवार ने माना.