Published On : Sat, Jul 26th, 2014

काटोलवासी हो गए अवैध टोल वसूली से मुक्त


युवा सेना के आंदोलन के बाद हुई घोषणा


काटोल

katol tol
स्थानीय रेलवे फाटे के पास रोहन राजदीप टोल कंपनी द्वारा शुरू की गई अवैध टोल वसूली के विरोध में युवा सेना के आंदोलन के बाद काटोल परिसर को टोलमुक्त कर दिया गया. इससे पूर्व काटोलवासियों को पास देकर टोलमुक्त किया गया था. परंतु टोल कंपनी काटोल के लोगों से टोल की वसूली कर ही रही थी. उड़ान पुल का काम अधूरा रहने और बायपास का काम प्रभावित होने के बावजूद कंपनी ने टोल वसूली प्रारंभ कर दी थी.

युवा सेना ने 18 जुलाई को इस संबंध में उपविभागीय अधिकारी को एक ज्ञापन दिया था. जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो 22 से 25 जुलाई तक धरना दिया गया. शुक्रवार को दोपहर साढ़े 12 बजे सैकड़ों कार्यकर्ता टोल नाके पर पहुंचे और धरने पर बैठ गए. परिस्थिति पर नियंत्रण के लिए पुलिस का भारी बंदोबस्त किया गया था. कार्यकर्ताओं के रोष और आंदोलन की तीव्रता को देखते हुए पुलिस अधिकारियों ने टोल नाका व्यवस्थापक और आंदोलनकारियों से बातचीत की. इसके बाद डीवायएसपी विलास देशमुख ने काटोल वासियों को टोल वसूली से मुक्त करने की घोषणा की. इस घोषणा के बाद आंदोलनकारियों ने पटाखे फोड़कर हर्ष व्यक्त किया.

E
इस मौके पर डीवायएसपी के अलावा एएसआई राठोड़, टोल नाके के व्यवस्थापक सुरेश खेड़कर, युवा सेना के अध्यक्ष खुशाल वंजारी, जिला प्रमुख हर्षल काकडे, शिवसेना जिला प्रमुख पुरुषोत्तम धोटे, प्रशांत मानकर, विपुल देवपुजारी, गौरव सावरकर, स्वप्निल डफरे, कुणाल गायधने, चंद्रशेखर हाडके, संदीप वंजारी, मनीष दुर्गे, तिलक क्षीरसागर, अमित वडस्कर, माधव अनवाने सहित भारी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे.

Advertisement

E

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement