Published On : Tue, Jul 8th, 2014

औरंगाबाद : भारतीय रेलवे को नई दिशा देनेवाला बजट


केंद्रीय खाद्यान्न व नागरी आपूर्ति राज्यमंत्री रावसाहेब पाटिल दानवे की प्रतिक्रिया

औरंगाबाद

Raosahebpatil danve
केंद्रीय ग्राहक संरक्षण, खाद्यान्न व नागरी आपूर्ति राज्यमंत्री रावसाहेब पाटिल दानवे ने रेल मंत्री सदानंद गौडा द्वारा पेश रेल बजट का स्वागत किया है. उन्होंने कहा, मोदी सरकार का पहला रेल बजट भारतीय रेलवे को नई दिशा देनेवाला होगा. बजट में सार्वजनिक – निजी (पी पी पी) भागीदारी और रेलवे में विदेशी पूंजी निवेश (कोच वैगन फैक्टरी के लिए) की घोषणा से आगामी पांच वर्षों में नए रेल मार्ग अल्पावधि में ही साकार हो सकेंगे.

देश में बुलेट ट्रेन, हाई स्पीड ट्रेन की घोषणा और रेलवे के विस्तार के मद्देनजर रेलवे विद्यापीठ की घोषणा से इस क्षेत्र में होनेवाले शोध और यात्रियों को आवश्यक सुविधा पर ध्यान केंद्रित किया जा सकेगा.

पिछली सरकार की 359 नई योजनाएं प्रलंबित हैं. इसमें पिछले 9 सालों में ही 99 योजनाओं की घोषणाएं की गईं, मगर एक भी मार्ग पूर्ण नहीं हो पाया. 4 प्रकल्प 30 सालों से प्रलंबित हैं. देश में 3738 किलोमीटर रेल मार्गों की आवश्यकता है. इसके लिए करीब 41 हजार करोड़ रुपयों की जरूरत है. ये सारे प्रकल्प सार्वजनिक – निजी (पी पी पी) भागीदारी से  पूर्ण होने के रास्ते अब खुल जाएंगे.

दानवे ने कहा कि रेल गाड़ियों में कम्प्यूटर की सुविधा, महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला आर.पी.एफ. जवानों की तैनाती, मुंबई लोकल में स्वचलित दरवाजे लगाने और सीजन टिकटों की दर कम करने जैसे फैसले आम आदमी को दिलासा देनेवाले हैं. मराठवाडा में औरंगाबाद – रेणीगुंठा रेल, औरंगाबाद-चिखलठाना में ओवर ब्रिज और औरंगाबाद से चालीसगांव के बीच नए रेल मार्ग के सर्वेक्षण की घोषणा इस बजट की विशेषताएं हैं.