Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Aug 16th, 2014
    Vidarbha Today | By Nagpur Today Nagpur News

    उमरखेड़ : महागांव तालुका के सरपंच-उपसरपंच बेमुद्दत अनशन पर


    उपविभागीय अधिकारी राजेश पारनाईक के तत्काल तबादले की मांग

    उमरखेड़

    उमरखेड़ व महागांव तालुका सरपंच-उपसरपंच संगठन ने स्थानीय उपविभागीय अधिकारी राजेश पारनाईक के तत्काल तबादले की मांग को लेकर 15 अगस्त से बेमुद्दत अनशन आरंभ किया है. अनशन उपविभागीय कार्यालय के समक्ष किया जा रहा है. आरोप है कि वे उनसे मिलने आने वाले नागरिकों के साथ अपमानजनक व्यवहार करते हैं.
    अभी एक साल पहले यानी 15 अगस्त 2013 से ही उपविभागीय कार्यालय यहां शुरू हुआ है. पहले उपविभागीय अधिकारी के रूप में नियुक्त पारनाईक भी अपने कार्यकाल के एक साल पूरे कर चुके हैं. लेकिन इन 12 महीनों में वे हमेशा विवादों से घिरे रहे हैं. कभी उमरखेड़ तालुका तो कभी महागांव तालुका से संबंधित मुद्दों को लेकर विवाद में रहे. उनसे मिलने आने वाले किसी भी व्यक्ति के साथ अपमानजनक व्यवहार का आरोप उन पर लगातार लगता रहा है. चाहे फिर उनके कार्यालय का कोई कर्मचारी हो अथवा सामान्य नागरिक. अथवा ज्ञापन देने जाने वाले संगठनों के प्रतिनिधि हों.

    विगत दिनों पारनाईक से मिलने गए चिखली (वन) के ग्रामीणों के शिष्टमंडल को तो उन्होंने जेल में डाल देने की धमकी दी थी. इस धमकी का असर ऐसा हुआ कि शिष्टमंडल में शामिल सरपंच तो उन्हीं के कार्यालय में चक्कर खाकर गिर गया था. अभी 23 जुलाई को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपने गए उमरखेड़ व महागांव तालुका के सरपंच-उपसरपंचों से तो पारनाईक ने सीधे कहा-सरपंच का रौब गांव में दिखाओ, सूखा क्या होता है तुम लोगों को मालूम भी है. और फिर बिना ज्ञापन स्वीकार किए कार्यालय से बाहर कर दिया था.

    15 अगस्त को हुई ग्राम सभा ने प्रस्ताव पारित कर पारनाईक के तबादले की मांग की है और सरपंच-उपसरपंचों को अपना समर्थन घोषित कियाा है. इस बीच, स्वतंत्रता दिवस से प्रारंभ अनशन स्थल पर अब तक विधायक ख्वाजा बेग, पूर्व विधायक प्रकाश पाटिल देवसरकर, विधायक विजय खडसे आकर अनशनकारियों को समर्थन दे चुके हैं. विधायक बेग ने आश्वासन दिया कि इस संबंध में उपमुख्यमंत्री अजित पवार से भेंट कर पारनाईक के तबादले के संबंध में बात की जाएगी.

    इस बेमुद्दत अनशन में उमरखेड़ तालुका सरपंच-उपसरपंच संगठन के अध्यक्ष गजानन कदम, महागांव के अध्यक्ष शेषराव राजनीकर, साहेबराव मिराशे, कुसुमबाई पतंगे, राजू पाटिल नलावडे, अर्जुन जाधव, रामराव नरवाडे, विलास गोरे, मुकिंदा जाधव, संदीप भोयर, जीजाबाई रावते, रमेश रावते, रमेश पवार, पंजाब गावंडे, अशोक तुमवार, गुलाब सूर्यवंशी, संजय सुटोशे, विष्णु मुटकुले, दादाराव पुंड सहित अनेक सरपंच-उपसरपंच शामिल हैं.

    Representational Pic

    Representational Pic


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145